उत्तर प्रदेश में खुले 38 पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट केंद्र -डाक निदेशक के के यादव

मिश्रिख डाकघर में पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र का सांसद अंजू बाला ने डाक निदेशक के के यादव व आरपीओ पीयूष वर्मा संग किया शुभारम्भ


डाक घरों के माध्यम से पासपोर्ट सेवा को विस्तार देने के क्रम में उत्तर प्रदेश में 38 पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र खोले जा चुके हैं। इसी क्रम में सीतापुर जिले के मिश्रिख डाकघर में राज्य के 38वें पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र का उद्घाटन मिश्रिख की सांसद श्रीमती अंजू बाला ने लखनऊ परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव, क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी श्री पीयूष वर्मा व डाक अधीक्षक  एच. के. यादव  की उपस्थिति में आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में किया। इस अवसर पर पासपोर्ट के लिये प्रथम आवेदन अशोक बरार ने  किया, जिन्हें सांसद और डाक निदेशक ने मंच पर ही रसीद सौंपी।  कार्यक्रम के दौरान सुकन्या समृद्धि योजना, डाक जीवन बीमा, इण्डिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक सहित तमाम सेवाओं के धारकों को पासबुक और बॉन्ड्स भी प्रदान किये गए।


 


इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मिश्रिख की सांसद श्रीमती अंजू बाला ने कहा कि डाक विभाग देश के सबसे पुराने और महत्वपूर्ण विभागों में से है। सरकार की तमाम अहम योजनाओं के क्रियान्वयन में डाकघरों का महत्वपूर्ण योगदान है।  मिश्रिख में केंद्र सरकार की तमाम योजनाओं को प्रमुखता से लागू किया गया है। मिश्रिख डाकघर में  पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलने से यहाँ के निवासियों को काफी सहूलियत होगी।  पहले यहाँ के लोगों को पासपोर्ट बनवाने के लिए लखनऊ या सीतापुर जाना होता था, पर अब यहीं पर पासपोर्ट बन सकेंगे । इससे शिक्षा, नौकरी और पर्यटन के लिए विदेश जाने वाले लोगों का यहीं अपने शहर में ही पासपोर्ट बन सकेगा। सांसद  श्रीमती अंजू बालाने  इसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज और संचार राज्य मंत्री श्री मनोज सिन्हा का आभार जताया।  


 


लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग का उद्देश्य समावेशी विकास के तहत शहरों के साथ-साथ सुदूर ग्रामीण अंचल स्थित लोगों को भी सभी योजनाओं के तहत लाना है। डाक विभाग प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र  मोदी जी द्वारा आरम्भ सभी योजनाओं के क्रियान्वयन में अग्रणी रहा है। श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में मिश्रिख सहित अब 38 पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केंद्र आरम्भ हो चुके हैं। डाक विभाग अपनी बचत और बीमा योजनाओं को ऑनलाइन करने के बाद अब इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से बैंकिंग क्षेत्र में भी कदम रख चुका है। उत्तर प्रदेश में 4 लाख 66 हजार से ज्यादा लोग इसमें खाते खुलवा चुके हैं। डाकघरों में आधार नामांकन व अद्यतन की सुविधा दी गई है, ताकि लोगों को इसके लिए भटकना न पड़े। 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' के तहत उत्तर प्रदेश के डाक घरों में लगभग 15 लाख बेटियों के सुकन्या समृद्धि खाते  खोले गए हैं। तमाम गाँवों  को "सम्पूर्ण बीमा ग्राम" बनाया जा चुका है।  डाकघरों में  एलईडी बल्ब, ट्यूब लाइट व पंखों  की बिक्री द्वारा आमजन में ऊर्जा संरक्षण को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।


 


क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी, लखनऊ  श्री पीयूष वर्मा ने कहा कि डाकघरों में पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलने से समय और संसाधन दोनों की ही बचत होने लगी है। इससे ज्यादा से ज्यादा लोग पासपोर्ट के लिए आवेदन करने लगे हैं।


 


अधीक्षक डाकघर सीतापुर  एच. के. यादव ने स्वागत संबोधन दिया और सहायक अधीक्षक  विकास मिश्र ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर सहायक डाक अधीक्षक उमेश कुमार,  डाक निरीक्षक सचिन कुमार, जेपी त्रिवेदी, मिश्रिख डाकघर के पोस्टमास्टर चन्द्र कुमार सहित तमाम जनप्रतिनिधिगण, अधिकारी और संभ्रांतजन उपस्थित रहे।


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,