छोटी पूंजी से खोलिए बड़े उद्योग

बेरोजगारी की बढ़ती चुनौतियों के बीच यदि आप खुद का रोजगार खड़ा करना चाहते हैं तो अवसरों की कमी नहीं। कई ऐसे उद्योग हैं, जिन्हें महज एक से डेढ़ लाख रुपये की पूंजी से शुरू किया जा सकता है।  इंडस्ट्रियल इस्टेट में ही कई ऐसे उद्यमी हैं, जिन्होंने कभी एक छोटी सी शुरुआत की थी और आज एक बड़े मुकाम पर हैं। इन उद्यमियों के मुताबिक शिक्षित बेरोजगार कम पूंजी लगाकर भी सफल उद्यमी बन सकते हैं। एक लाख से 10 लाख रुपये में बेकरी, नमकीन, पैकेजिंग, इंब्रायडरी, खराद और प्लास्टिक मोल्डिंग जैसे उद्योग आसानी से लगाए जा सकते हैं। इन उद्योगों के विस्तार की अपार संभावनाएं हैं।


 

पैकेजिंग और खराद उद्योग
---------------------
स्माल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के महामंत्री राजेश भाटिया के मुताबिक पैकेजिंग की मैनुअल इकाई एक से डेढ़ लाख रुपये में लगाई जा सकती है। यह उद्योग अपने घर में भी लगाया जा सकता है। मौजूदा समय में पैकेजिंग उद्योग में अपार संभावनाएं हैं। आज सभी इंडस्ट्री अपने उत्पादों की पैकेजिंग पर विशेष ध्यान दे रही हैं। पैकेजिंग के लिए इन्हें डिब्बे की जरूरत होती है। मांग इतनी अच्छी है कि उद्यमी को मार्केटिंग के लिए बहुत परेशान नहीं होना पड़ता। इसी तरह, खराद की मशीन एक लाख रुपये में आती है। इसे एक कमरे में लगाया जा सकता है। इस मशीन को दुकानदार किस्त पर भी मुहैया करा देते हैं।

नमकीन उद्योग
-----------
 इंडस्ट्रियल इस्टेट के युवा उद्यमी जीमी बाधवानी ने बीकाम की पढ़ाई के बाद अपने भाई सुनील वाधवानी के साथ चार लाख रुपये की लागत से वर्ष 2007 में यहां नमकीन का कारखाना लगाया। शुरुआती दिक्कतों के साथ कारोबार आगे बढ़ा। आज दोनों भाई अपने उद्योग से पूरी तरह संतुष्ट हैं। साथ ही, 12 लोगों को रोजगार भी मुहैया करा रहे हैं। जीमी बाधवानी कहते हैं कि शिक्षित बेरोजगारों के लिए कम पूंजी में उद्योग के तौर पर नमकीन का कारखाना एक बेहतर विकल्प है।

इंब्रायडरी उद्योग
------------
 इंडस्ट्रियल इस्टेट के युवा उद्यमी मनीष खेतान स्नातक की पढ़ाई के बाद रोजगार के लिए परेशान थे। किसी ने उन्हें इंब्रायडरी के काम में हाथ आजमाने की सुझाव दिया। फिर उन्होंने दस लाख रुपये की पूंजी से एक इंब्रायडरी मशीन वर्ष 2006 लगाई। उन्होंने आज चार इंब्रायडरी मशीनें लगा ली हैं। मौजूदा समय 15-16 श्रमिक इस इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं। मनीष कहते हैं कि वह अपने उद्योग से पूरी तरह संतुष्ट हैं। युवा बेरोजगारों के रोजगार के लिए इंब्रायडरी एक अच्छा विकल्प है।



उद्योग के लिए यहां करें आवेदन
उद्योग लगाने के लिए अभ्यर्थी प्रधानमंत्री रोजगार योजना के तहत जिला उद्योग केंद्र  में आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा, खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के कार्यालय  में भी आवेदन कर इसके लिए संचालित सरकारी योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,