निरंकारी सद्गुरु माता सुदीक्षा जी का आगमन 5, दिसम्बर, 2019 को

 


बांदा, 
सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज मानव कल्याणार्थ प्रचार यात्रा के पड़ाव में बांदा पहुँचेंगी। इससे जहां समस्त साध संगत में उत्साह का माहौल है वहीं हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु भक्त इस संत समागम की पावन बेला की तैयारियों में जुटे हुए हैं। संत निरंकारी मंडल बांदा के ज़ोनल इंचार्ज श्री दर्शन सिंह ने बताया कि इस विशाल निरंकारी संत समागम का आयोजन 5 दिसम्बर, 2019 दिन गुरूवार, सांयः 4 बजे से रात्रि 7 बजे तक स्थान पं0जे0एन0 डिग्री काॅलेज बांदा में सम्पन्न हो रहा है। 
 इस प्रचार यात्रा व सन्त समागम का उद्देश्य ब्रह्मज्ञान के द्वारा अज्ञानता के अंधकार को दूर करना व भ्रमों, रूढ़िवादिताओ से छुटकारा दिलाना तथा मानव मन की दीवारों को गिराकर एकत्व, विश्वबंधुत्व, प्रेम व भाईचारे को स्थापित करना है। मिशन के द्वारा चलाये गये जन कल्याण के कार्य जिसमें रक्तदान, वृक्षारोपण, सफाई अभियान इत्यादि।
 स्थानीय प्रवक्ता ने संत निरंकारी मिशन के 90 वर्षों के इतिहास की चर्चा करते हुए कहा कि सन् 1929 से प्रारंभ विश्व व्यापक निरंकारी मिशन मानवता एवं विश्वबन्धुत्व का सर्वसांझा मंच है जो हर धर्म जाति व सम्प्रदाय के लिए बना है। सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के आगमन पर आयोजित विशाल निरंकारी संत समागम में बांदा के अतिरिक्त महोबा, झांसी, चित्रकूट, ललितपुर, मानिकपुर, मऊरानीपुर, अतर्रा, नरैनी, कमासिन, बबेरू व ग्रामीण क्षेत्र सहित आसपास के भी क्षेत्रों से हज़ारों श्रद्धालु भक्त एवं प्रभु पे्रमीयों के पहंुचने की संभावना है।
 उन्होंने बताया कि इस विशाल निरंकारी संत समागम में ब्रह्मज्ञान व दिव्य संदेश का लाभ लेने हेतु समस्त साध संगत में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,