1000 बसों को स्वीकार न करने के कारण छीछालेदर और अपनी खीझ को मिटाने के लिये श्री लल्लू जी पर राजनैतिक द्वैष के कारण यह कार्यवाही की गयी है-प्रमोद तिवारी

कांगे्रस विधान मण्डल दल की नेता श्रीमती आराधना मिश्रा,मोना, एवं कांगे्रस के वरिष्ठ नेता  श्री प्रमोद तिवारी ने कहा है कि आखिर में ‘‘सत्य की जीत’’ हुई, और उत्तर प्रदेष सरकार ने जिस तरह कल दिनांक- 19 मई, 2020 को उत्तर प्रदेष कांगे्रस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी, श्री प्रदीप माथुर जी, पूर्व नेता, कागे्रस विधान मण्डल, उ.प्र. एवं श्री विवेक बंसल जी, पूर्व सदस्य, विधान परिषद, सचिव, अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी को गिरफ्तार किया था, उन्हें गिरफ्तार करने के लिये ‘‘प्रथम दृृष्ट््या’’ कोई आरोप न पाते हुये सषर्त जमानत पर रिहा कर दिया ।
नेता द्वय ने कहा है कि श्री अजय कुमार लल्लू जी को आगरा से पुलिस अपनी कस्टडी में सम्भवतः उस मुकदमे के लिये लेकर लखनऊ आ रही है, जो पूरी तरह गलत तथ्यों पर आधारित है, और लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में दर्ज कराया गया  है ।
नेता द्वय ने कहा है कि ऐसे कौन से अपराध में थाना कोतवाली हजरतगंज में मुकदमा दर्ज किया गया है, या श्री अजय कुमार लल्लू जी क्या शातिर अपराधी थे? जो विदेष भाग जाते ओर उन्हें आगरा से लाने के लिये लखनऊ से पुलिस को जाना पड़ा, तथा उन्हें ‘‘न्याय के मंदिर’’ में जाने का अवसर भी नहीं दिया गया । ऐसा लगता है कि अखिल भारतीय कांगे्रस कमेटी की महासचिव एवं उत्तर प्रदेष की प्रभारी श्रीमती प्रियंका गांॅधी जी द्वारा भूख प्यास से परेषान मजदूरों को उनके घर पहंुॅचाने के लिये प्रस्तुत की गयी 1000 बसों को स्वीकार न करने के कारण जनता में हुई छीछालेदर और अपनी खीझ को मिटाने के लिये श्री लल्लू जी पर राजनैतिक द्वैष के कारण यह कार्यवाही की गयी है ।
नेता द्वय ने कहा है कि श्री अजय कुमार लल्लू जी पर ऐसा कोई अपराध नहीं बनता है जिसके लिये लखनऊ की पुलिस जाकर उन्हें गिरफ्तार करती, परन्तु राजनैतिक द्वैष के कारण पुलिस द्वारा उन्हें लखनऊ लाया जा रहा है, हमे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है, श्री अजय कुमार लल्लू जी पर राजनैतिक द्वैष के कारण निराधार मुकदमा दर्ज कराया गया है, प्रदेष सरकार इस फर्जी मुकदमें को तत्काल वापस ले ।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,