आतंकवाद विरोधी दिवस पर अनेक कार्यक्रम

संत कबीर नगर,

 

देश भर में 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया गया। 21 मई 1991 को देश के 7वें प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी की तमिलनाडु के श्रीपेरुंबुदूर में लिट्टे आतंकवादियों ने मानव बम से  हत्या कर दी थी।श्री गांधी उस समय श्रीपेरुंबुदूर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करने वाले थे।

          आतंकवाद विरोधी दिवस पूर्व प्रधानमंत्री के सम्मान में और उन्हे श्रद्धांजलि देने के लिए 21मई को मनाया जाता है व सभी को आतंकवाद और हिंसा से दूर रखने के उद्देश्य से इस दिन विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन सरकार के विभिन्न विभागों, कार्यालयों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और अन्य सार्वजनिक संस्थाओं द्वारा आतंकवाद एवं हिंसा विरोधी शपथ दिलाई जाती है। इस अवसर पर कई स्कूल कॉलेजों में वेबनोर व अन्य सोशल साइट्स के माध्यम से वाद-विवाद प्रतियोगिता, परिचर्चा, संगोष्ठी आदि का आयोजन किया।

       इस दिन हिंसा और और आतंकवाद के कुप्रभाव को प्रकाश में लाने के प्रयासों में स्वयंसेवी संगठनों सहित सामाजिक और सांस्कृतिक निकायों की भागीदारी सुनिश्चित की जाती है। जो व्याख्यान, परिचर्चा तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमो के जरिए आतंकवाद विरोध का संदेश देते हैं।
 

 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

आपकी लिखी पुस्तक बेस्टसेलर बने तो आपको भी सही निर्णय लेना होगा !