चन्दौसी में विद्युतापूर्ति न होने से लोग परेशान

 चन्दौसी , चन्दौसी विद्युत वितरण खण्ड के क्षेत्र में किसानों को सुचारू रूप विद्युतापूर्ति नहीं मिल पा रही हैजिससे किसानों की फसलें सूखने की कगार पर हैं। पवांसा, किरारीबहजोई, चन्दौसी ग्रामीण, कैलादेवी बिजलीघर पर ओवरलोड है। जिस कारण बिजली नहीं मिल पा रही है। जिसको लेकर भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने शनिवर को अधिशासी अभियन्ता विद्युत वितरण खण्ड को ज्ञापन सौंपा है। भारतीय किसान यूनियन के प्रमुख प्रदेश महासचिव बिजेन्द्र सिंह यादव के नेत्त्व में भाकियू का एक प्रतिनिधि मंडल अधिशासी अभियन्ता से मिला और अपनी समसयाओं को लेकर एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि विद्युत विभाग द्वारा निजी नलकूपों की क्षमतावृद्धि के आदेश किए गये जो गलत हैं। निजी नलकूपों की क्षमता वृद्धि भारतीय किसान यूनियन बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगी। क्योंकि निजी नलकूपों पर लो वोल्टेज की समस्या । भाकियू ने विद्युत विभाग द्वारा नलकूपों पर 440 वोल्टेज उपलब्ध कराये जाने की मांग है। भाकियू का कहना है कि अगर किसी किसान का मोटर ज्यादा पावर का पाया जाता है तो उसकी क्षमता वृद्धि की जाये। लो वोल्टेज समस्या विद्युत विभाग की कमी है। अगर निजी नलकूपों को 440 वोल्टेज बिजली उपलब्ध कराई जाये तो केवल पांच हॉर्स पावर की मोटर ही पानी उठाने के लिए पर्याप्त है। भकियू का कहना है कि जब तक लो वोल्टेज की समस्या का समाधान नहीं किया जाता तो किसी भी परिस्थिति में नलकूपों की क्षमता वृद्धि बर्दाश्त नहीं की जायेगी। भाकियू ने किसानों के हित में नियमितीकरण निजी नलकूप कनेक्शन योजना को चालू रखने की मांग भी की है। भाकियू संविदा कर्मियों पर भी आरोप लगाये हैं उसने कहा है कि संविदा कर्मियों की मनमानी की वजह से विद्युत आपूर्ति सुचारू नहीं हो पा रही है। संविदाकर्मी क्षेत्रीय राजनीति में लिप्त हैं उन्हें उनके मूल बिजली घरों से दूसरे बिजली घरों पर ट्रांसफार्मर किया जाए।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,