जिलाधिकारी की अध्यक्षता में नोडल अधिकारियों की बैठक का आयोजन


ललितपुर।
जिलाधिकारी, ललितपुर श्री योगेश कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में जनपद के नोडल अधिकारियों के साथ एक आवश्यक बैठक कलैक्ट्रेट सभागार में आयोजित की गई। 
बैठक में जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि ग्राम प्रधानों के सहयोग से बाहर से आये व्यक्ति के घर के सामने की मुख्य दीवार पर लाल निशान लगाकर व्यक्ति के आने की तारीख अंकित की जाये, जिससे यह स्पष्ट हो सके कि वह व्यक्ति 14 दिन तक घर से बाहर न निकल सके और न ही उस व्यक्ति के सम्पर्क में कोई अन्य व्यक्ति आ सके। ग्राम में मुनादी करा दी जाये कि 14 दिन तक उस व्यक्ति के सम्पर्क में कोई व्यक्ति न आये। यदि कोई व्यक्ति इसका उल्लंघन करता है तो इसकी सूचना ग्राम निगरानी समिति कन्ट्रोल रुम (0576-274206) को उपलब्ध करायेगी तथा कन्ट्रोल रुम इसी सूचना सम्बंधित उप जिलाधिकारी एवं थानाध्यक्ष को देगा। तत्पश्चात सम्बंधित व्यक्ति के विरुद्ध महामारी अधिनियम के तहत कार्यवाही की जाएगी। 
इसी प्रकार नगर क्षेत्र में मोहल्ला समिति भी सतर्क रहेंगी तथा किसी भी ऐसे व्यक्ति जो बाहर से आने के बावजूद भी कोरन्टाइन के नियमों की अवहेलना कर रहे हैं, की सूचना अपर जिलाधिकारी, ललितपुर के आॅफिस के नम्बर (05176-272613) पर देंगे। जनपदवासी हर हाल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपने कार्यों को सम्पादित करेंगे। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में दूध-डेयरी के खुलने का समय प्रातः 10 बजे से शाम 07 बजे तक ही रहेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण कार्य सोशल डिस्टेंसिंग की शर्तों का पालन करते हुए पूर्ण कराये जायें। 
इसके साथ ही जिलाधिकारी ने जनपदवासियों से अपील की कि सभी जनपदवासी भारत सरकार द्वारा विकसित किये गए आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करें। कोरोना महामारी से बचाव एवं स्वमूल्यांकन हेतु भारत सरकार द्वारा आरोग्य सेतु ;।ंतवहलं ैमजनद्ध नाम से एक आधुनिक मोबाइल ऐप का विकास किया गया है, जोकि कोरोना (कोविड-19) वायरस संक्रमण के खतरे एवं जोखिम का आंकलन करने में नागरिकों की मदद करता है। यह मोबाइल ऐप ब्लूटूथ, लोकेशन एवं मोबाइल नंम्बर का उपयोग कर आस-पास मौजूद कोरोना संक्रमित लोगों के बारे में एलर्ट जारी करता है। उक्त मोबाइल ऐप ।दकतवपकध्पवे दोनों तरह के मोबाइल आपरेटिंग साफ्टवेयर के लिए उपलब्ध है।
उक्त विशिष्टताओं के अतिरिक्त इसमें राज्यवार कोरोना हेल्पलाइन सेन्टर की सूची भी उपलब्ध करायी जाती है। इस ऐप के माध्यम से उपयोगकर्ता द्वारा किसी भी समय पूर्व निर्धारित प्रश्नों का उत्तर देकर स्वयं अपना मूल्यांकन भी किया जा सकता है। इस ऐप के समस्त डाटा को भारत सरकार द्वारा निजता कानून के तहत सुरक्षित रखा जाता है।
बैठक में पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जनपदवासियों के सहयोग से अभी तक जनपद की स्थिति अन्य जनपदों की अपेक्षा अच्छी है। हमें आगे भी इसी प्रकार कठिन परिश्रम के साथ इस स्थिति को बनाये रखने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना है, मास्क पहनने की आदत डालनी है, साथ ही कोरोना महामारी के संक्रमण को फैलने से रोकना है। सभी जनपदवासी आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कर अपना परीक्षण करते रहें ताकि आप स्वयं व आपके आसपास मौजूद लोग सुरक्षित रह सकें। 
बैठक में पुलिस अधीक्षक कैप्टन एम0एम0 बेग, अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार मिश्र, अपर जिलाधिकारी न्यायिक लवकुश त्रिपाठी, जिला सूचना अधिकारी पीयूष चन्द्र राय सहित अन्य संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। 


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,