कारागारों में पूर्व से निरूद्ध बंदियों को सक्रंमित होने से बचाया जाय - अवनीष कुमार अवस्थी

लखनऊः 17 मई, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के निर्देश पर अपर मुख्य सचिव गृह एवं कारागार ने कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत कारागारों में प्रवेष होने वाले नवागन्तुक बंदियों को अस्थायी कारागारों में रखने के निर्देष दिये है।

 श्री अवस्थी द्वारा इस संबंध में समस्त मण्डलायुक्त, पुलिस आयुक्त, लखनऊ व गौतमबुद्धनगर तथा समस्त जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक को निर्देषित किया गया है कि प्रदेष के उन जनपदों मंे जहां कोविड-19 संक्रमण से सम्बन्धित 20 अथवा उससे अधिक मामले हुए है, उन सभी जनपदों मंे नवागन्तुक बंदियों को अनिवार्य रूप से 14 दिनों तक अस्थायी कारागारों में रखा जाय। उन्होंने यह निर्देष भी दिये है कि कोविड-19 संक्रमण की जानकारी हेतु नवागन्तुक बंदियों का परीक्षण कराया जाय और यदि निगेटिव पाया जाता है, तो मुख्य कारागार में भेजा जाय अन्यथा की स्थिति में उपचार हेतु चिकित्सालय भेज दिया जाय, जिससे कारागारों में पूर्व से निरूद्ध बंदियों को सक्रंमित होने से बचाया जा सके।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,