मिट्टी की ढांग गिरने से दो किशोरियां दबीं

 गुन्नौर।  कोतवाली क्षेत्र के गांव सैमला में गुरुवार को मिट्टी खोदने गईं दो किशोरिया ढांग गिरने से दब गईं। मिट्टी खोद रहीं महिलाओं के शोर मचाने पर आसपास खेतों में काम कर रहे लोग मौके पर पहुंचे और दोनों किशोरियों को बाहर निकाला और उपचार के लिए अस्पताल में र भर्ती कराया। जहां से डाक्टरों ने एक किशोरी को गंभीर हालत में संभल रेफर कर दिया। गुन्नौर कोतवाली क्षेत्र के गांव सैमला निवासी स्वर्गीय जगतपाल सिंह की पत्नी कल्लू देवी अपनी 12 वर्षीय पुत्री आशा को लेकर मिट्टी लेने के लिए गई किशोरियां दबीं स्वीकन साथ ही थी। उनके साथ गांव निवासी स्वर्गीय मटरू यादव 13 वर्षीय पुत्री श्रीमती भी मिट्टी खोदने गई थी। मिट्टी खोदते समय अचानक ढांग भरभराकर गिर पड़ी। दोनों किशोरियां मिट्टी की ढांग के नीचे दब गईं। इस पर आशा की मां ने शोर मचा दिया। शोर सुनकर आसपास के खेतों में काम कर रहे लोग मौके पर पहुंचे और कड़ी मशक्कत के बाद दोनों किशोरियों को बाहर निकाला। लोगों ने दोनों किशोरियों को बेहोशी की हालत में उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर एक किशोरी की हालत ज्यादा खराब होने पर डाक्टरों ने उसे संभल के लिए रेफर कर दिया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,