निर्भीक व निस्वार्थ पत्रकारिता से शान बनती है पत्रकारों की

हमीरपुर 30 मई। जिला प्रेस क्लब ने हिंदी पत्रकारिता दिवस पर गोष्ठी का आयोजन किया । जिसकी अध्यक्षता पूर्व अध्यक्ष  रामशरण दीक्षित ने की। क्लब के संस्थापक लक्षमी नारायण दुबे ने पीत पत्रकारिता को त्याग कर निर्भीक व निष्पक्ष पत्रकारिता अपनाने का आह्वान किया। पूर्व अध्यक्ष राम शरण दीक्षित ने वैश्विक महा बीमारी कोविड-19 से बचने के लिए मास्क व सोशल डिस्टटिंग अपनाने,  निःस्वार्थ भाव से समाचारों का लेखन करने की प्रेरणा व नसीहत दी। गोष्ठी में पी डी दीक्षित, श्री प्रकाश शुक्ला, मुनीर खान, अनिल सोंनी, आशुतोष दीक्षित, नीरज दुबे, हरि माधव मिश्रा, इंद्र प्रकाश वाजपेयी, अभिषेक दुबे, राजेश गुप्ता, विनय गुप्ता, गणेश सिंह विद्यार्थी ने विचार रखे। कानपुर के जुगुल किशोर शुक्ला ने कलकत्ता से 'उदंत मार्त्तण्ड' नामक समाचार पत्र हिंदी में प्रकाशित किया था। देश में यह पहला अवसर था। इसके पहले बांग्ला व अंग्रेजी में समाचार पत्र छप रहे थे। इस अवसर पर अमर हुतात्मा क्रांतिकारी पत्रकार गणेश शंकर विद्यार्थी के प्रति आस्था व्यक्त करते हुए उनके आदर्शों का पालन करने का संकल्प दोहराया गया। गणेश सिंह हमीरपुर पत्रकारिता दिवस पर श्रमजीवी पत्रकारों के हित में लिया संकल्प हमीरपुर 30 मई। हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर श्रमजीवी पत्रकार कल्याण समिति के बुन्देलखण्ड मंडल अध्यक्ष जितेन्द्र पाण्डेय व जिलाध्यक्ष प्रशान्त शुक्ला, ओपी दोहरे, अमित दुबे, जसवंत निषाद, रामबाबू, नागेन्द्र जोशी आदि पत्रकारों ने देश के पत्रकार शिरोमणि स्व० गणेश शंकर विद्यार्थी के चित्र पर माल्यार्पण कर उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए पत्रकारों के हित में कार्य करते रहने का संकल्प दोहराया गया। 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,