उत्तर प्रदेश सरकार के श्रम एवं सेवा योजन राज्यमंत्री ने संचालित सामुदायिक किचिन का किया औचक निरीक्षण


ललितपुर।

उत्तर प्रदेश सरकार के श्रम एवं सेवा योजन राज्यमंत्री मनोहर लाल पंथ ने राजकीय बालिका इण्टर काॅलेज में संचालित सामुदायिक किचिन का औचक निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान श्रम एवं सेवा योजन राज्यमंत्री मनोहर लाल पंथ ने सामुदायिक किचिन की सभी व्यवस्थाओं का गहनतापूर्वक जायजा लिया, साथ ही यहां पर क्वारंटाइन किये गए लोगों के बारे में जानकारी ली।मौके पर अमझरा घाटी के मजदूरों के लिए 1000 पैकेट भोजन तैयार कराया जा रहा था। निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी  ने  मंत्री  को

अवगत कराया कि यहां पर क्वारंटाइन किये गए लोगों को अच्छी गुणवत्ता का भोजन दिया जाता है, साथ ही उनके ठहरने के लिए समस्त आवश्यक सुविधाएं भी मौजूद है।

इसके साथ ही मौके पर मौजूद किचिन के सह-नोडल/जिला सूचना अधिकारी पीयूष चन्द्र राय ने  मंत्री  को अवगत कराया कि यहां क्वारंटाइन लोगों के लिए सुबह के नास्ते में पोहा, बिस्किट, चाय, दोपहर के खाने में दाल, चावल रोटी, मिक्स्ड रसीली सब्जी, शाम को बिस्किट, चना, चाय तथा रात के खाने में दाल, चावल, रोटी व सब्जी दी जाती है। उन्होंने बताया कि यहां बनने वाले भोजन को जनपद के लगभग 20 शेल्टर हाॅम में भेजा जाता है, साथ ही यहां पकने वाले भोजन की गुणवत्ता का भी विशेष ध्यान रखा जाता है। 

इस पर  मंत्री ने मौके पर पक रहे भोजन की गुणवत्ता को भी परखा, व भोजन की गुणवत्ता देख प्रसंशा भी की।

इसके उपरान्त  मंत्री  ने यहां पर क्वारंटाइन किये गए लोगों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि प्रशासन आप सभी के सहयोग के लिए पूर्ण रुप से तत्पर है। आप सभी शेल्टर हाॅम/कम्यूनिटी किचिन के प्रभारी द्वारा बताये गए सुझावों का पूर्ण रुप से पालन करें। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि हमें अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए इस वैश्विक महामारी से लड़ना है। इसके साथ ही  मंत्री  ने उपस्थित लोगों से उनको दिये जा रहे भोजन व अन्य सुविधाओं के बारे में पूछा, जिस पर क्वारन्टाइन किये गए लोगों ने उनको दिये जा रहे भोजन व अन्य सुविधाओं के प्रति संतोष प्रकट किया।

इसी क्रम में मा0 मंत्री जी ने शेल्टर हाॅम के शौचालयों को भी देखा, मौके पर सभी शौचालय स्वच्छ पाये गए।

इसके बाद उन्होंने कम्यूनिटी किचिन के स्टाॅक रुम का निरीक्षण किया, यहां पर किचिन के सह-नोडल/जिला सूचना अधिकारी ने अवगत कराया कि किचिन के लिए कम से कम 07 दिनों का बैकअप स्टाॅक रखा जाता है, सभी चीजें उत्तम गुणवत्ता एवं पैकिंग की ही रखी जाती हैं। इस पर मा0 मंत्री जी ने यहां पर मौजूद खाद्य सामग्री का गंभीरतापूर्वक जायजा लिया, साथ ही वस्तुओं की गुणवत्ता पर संतोष व्यक्त किया।

मौके पर  मत्री  ने निर्देश दिये कि यहां पर क्वारन्टाइन किये गए सभी लोगों का विशेष ध्यान रखा जाये, उन्हें किसी प्रकार की कोई समस्या न हो।

इसके उपरान्त  मंत्री  ने राजकीय बालिका इण्टर काॅलेज, महरौनी में संचालित सामुदायिक किचिन का निरीक्षण किया। यहां पर उन्होंने सभी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। साथ ही किचिन की खाद्य सामग्री का निरीक्षण किया। मौके पर किचिन में सभी लोग मास्क पहने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पाये गए। क्वारन्टीन लोगों को दिया जाने वाले भोजन भी मानक के अनुरुप पाया गया। भोजन की गुणवत्ता भी संतोषजनक पाई गई। मौके पर  मंत्री  ने किचिन स्टाफ को निर्देशित करते हुए कहा कि यहां पर पकने वाले भोजन की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें, साथ ही यह सुनिश्चित करें कि शेल्टर हाॅम में ठहरे हुये लोगों को समय से भोजन उपलब्ध हो सके।

निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पाण्डेय, कम्यूनिटी किचिन प्रभारी पी0डी0 निरंजन सहित अन्य स्टाॅफ मौजूद रहा।

 

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,