बीसलपुर नगर पालिका परिषद की  बोर्ड बैठक में 50.40 करोड़ का बजट पास

 


 बीसलपुर नगर पालिका परिषद बोर्ड की बैठक तीन बार स्थगित होने के बाद चौथी बार सर्वसम्मति से संपन्न हो गई। बैठक में 2020-21 के लिए 50 करोड़ 40 लाख का बजट सर्वसम्मति से पास हो गया। नगर पालिका परिषद बोर्ड की बैठक पिछले डेढ़ माह में तीन बार बुलाई गई जिसमें सभासदों का कोरम पूरा ना होने के कारण बैठक स्थगित करनी पड़ी। सभासदों के नाराज रहने व उनके वार्डों में उनके द्वारा पालिका परिषद को दिए गए कार्यों को न करने के कारण सभासद चेयरमैन से नाराज चल रहे थे। इसी के चलते बजट की बैठक बार-बार स्थगित हो रही थी। चेयरमैन डॉक्टर नूर अहमद ने रूठे हुए सभासदों को मनाने के लिए क्षेत्रीय विधायक रामसरन वर्मा की शरण में पहुंच कर उनसे संधि कराने की बात कही। विधायक ने अपने कैंप कार्यालय पर सभी सभासदों को बुलाकर चेयरमैन डॉक्टर नूर अहमद व अधिशासी अधिकारी वंदना शर्मा से सभासदों की बात करा कर उनको संतुष्ट करा दिया, जिसके पश्चात ईओ द्वारा मंगलवार को बोर्ड की बैठक के लिए सभी सभासदों को एजेंडा भिजवाया गया। एजेंडा के अनुसार सभी सभासद पालिका परिषद के लाइब्रेरी हाल में दोपहर पहुंच गए। बैठक प्रारंभ होने पर बड़ी जद्दोजहद के साथ 2020-21 के लिए 50 करोड़ 40 लाख का बजट सर्वसम्मति से पास हुआ, जिसमें सभी कार्यों पर व्यय होने वाला बजट 50 करोड़ 20 लाख 50 हजार का था। इसके विरुद्ध शुद्ध मुनाफा 20 लाख 18 हजार 664 रुपये का होना पास हुआ। बैठक में पास हुए प्रस्तावों में यह व्यय कर्मचारियों के वेतन, प्रकाश व्यवस्था, सड़कों का निर्माण, पेयजल व्यवस्था, मरम्मत कार्य, नाला व नाली मरम्मत आदि मद में हुआ है। बोर्ड की बैठक में क्षेत्रीय विधायक रामसरन वर्मा, अधिशासी अधिकारी वंदना शर्मा, सफाई निरीक्षक वीरेंद्र विक्रम सिंह के अलावा प्रधान लिपिक अकरम खान लेखाकार संजीव मिश्रा, अंकित वर्मा, यासीन मोहम्मद, आलिम सहित कर्मचारी व 25 वार्डों के सभासद मौजूद रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,