बुंदेलखंड विश्वविद्यालय द्वारा फीस बढ़ाए जाने पर समाजवादी छात्र सभा ने जताया विरोध


पूर्व जिला अध्यक्ष सेतु यादव के नेतृत्व में कुलपति को भेजा ज्ञापन





ललितपुर
बुंदेलखंड विश्वविद्यालय द्वारा नए शैक्षिक सत्र 2020 और 21 पाठ्यक्रमों में शुल्क वृद्धि के विरोध में समाजवादी छात्र सभा विरोध में उतर आई है। समाजवादी छात्र सभा के निर्माण जिलाध्यक्ष सतेंद्र सिंह यादव उर्फ सेतु यादव ने बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी के कुलपति को जिला प्रशासन के माध्यम से एक पत्र भेजा पत्र में उन्होंने कहा है कि बुंदेलखंड क्षेत्र में बुंदेलखंड विश्वविद्यालय एकमात्र ऐसा विश्वविद्यालय है जहां बुंदेलखंड के गरीब छात्र छात्राएं अध्ययन अध्यापन करती हैं ।यह क्षेत्र आर्थिक दृष्टि से बहुत पिछड़ा हुआ है इस तरह से फीस वृद्धि से इस क्षेत्र के बेटे और बेटियां उच्च शिक्षा से वंचित रह सकते हैं ।उन्होंने नए पाठ्यक्रमों में फीस वृद्धि को विद्यार्थियों के हितों का हनन बताया उनका कहना है कि एक तरफ जहां पूरा विश्व कोविड-19 महामारी का सामना कर रहा है और आज ऐसे समय मे जब शिक्षा का आधुनिकीकरण होना चाहिए था जिससे ऐसी हालत में अध्यन और अध्यापन का कार्य सुचारू रूप से संभव हो सकता था । तब फीस बढ़ाने का फैसला ना केवल छात्रों के हितों की अनदेखी है बल्कि यह शिक्षा का व्यापारी करण भी है।ज्ञापन में छात्र सभा ने बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति से बढ़ाई गई फीस को तत्काल प्रभाव से वापस लेने का अनुरोध किया है।सेतु यादव का कहना है कि यदि विश्वविद्यालय प्रशासन ने बढ़ी हुई फीस के फैसले को वापस नहीं लिया तो छात्र हित में उनकासंगठन आंदोलन करने को बाध्य होगा।ज्ञापन पर शिवम तिवारी गौरव विश्वकर्मा मोहब्बत वसीम राजा भैया यादव आदि के हस्ताक्षर बताए जा रहे हैं ।



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,