डीजल पेट्रोल के दामों में सरकार द्वारा की गयी बेतहाशा वृद्धि के खिलाफ वामदलों ने प्रदर्शन

लखनऊ 29 जून। डीजल पेट्रोल के दामों में सरकार द्वारा की गयी बेतहाशा वृद्धि
के खिलाफ वामदलों ने प्रदर्शन भर में विरोध प्रदर्शन
करते हए स्थानीय अधिकारियों के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजा।
वामदलों - भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी), भारतीय कम्युनिस्ट
पार्टी, भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी लेनिनवादी) व आल इण्डिया
फारवर्ड ब्लाक- देश व्यापी विरोध दिवस के अन्तर्गत एक विरोध प्रदर्शन का आयोजन
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यालय में किया गया। प्रदर्शन को सम्बोधित
करते हुए वक्ताओं ने सरकार से कहा कि हम आपका ध्यान पेट्रोल व डीजल के दामों
में बेतहाशा वृद्धि की तरफ आकर्शित करना चाहते है। अन्र्तराश्ट्रीय बाजार में
तेल का दाम कम हो रहा है फिर भी हमारे देश में आपके सरकार की गलत नीतियों के
कारण तेल के दाम में लगातार वृद्धि हो रही है। इसको तुरन्त रोका जाय। लखनऊ में
भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी राज्य कार्यालय में सभा करने के बाद जुलूस की शकल
में ज्ञापन देने डीएम कार्यालय जाते वक्त रास्ते में ही अधिकारियों ने आकर
ज्ञापन लिया।
प्रदर्शन के बाद  प्रधानमंत्री भारत सरकार को सम्बोधित एक मांगपत्र
जिलाधिकारी लखनऊ को सौंपा गया जिसमें मांग की गई कि- पेट्रोल व डीजल के दाम
में की गई वद्धि वापस ली जाय। बढ़ाया हुआ उत्पाद कर व वैट वापस लिया
जाय। पेट्रोल डीजल व गैस की पूर्व मूल्य नियन्त्रण प्रणाली लागू किया जाय।
मॅहगाई पर रोक लगाई जाय। सार्वजनिक क्षेत्र  व प्राकृतिक संषाधनों के निजीकरण
पर रोक लगाई जाय।
प्रदर्शन में सीपीआई के फूलचंद, मो0 खालिद, सीपीएम से छोटेलाल पाल, प्रवीण
सिंह, मधु गर्ग, माले से रमेश सिंह सेंगर, राजीव, फारवर्ड ब्लाक के एसपी
विश्वास, उदयनाथ सिंह शामिल रहे।
उक्त जानकारी एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से जिला मंत्री छोटेलाल पाल ने दी।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,