गोहन थाना में चर्म पर चल रहा है मिट्टी खुदाई और व्यापार का काम

माधौगढ/जालौन।09 जून।गोहन थाना क्षेत्र में मिट्टी खनन को लेकर सत्ताधारी बीजेपी पार्टी के दो ग्रुपों में आपस में तनाव चल रहा है। इस समय क्षेत्र में कई जगह जेशीबी मशीन से दिन रात मिट्टी खुदाई चल रही है।और टेक्टर भरे जा रहे है। मिट्टी खुदाई कर व्यापार किया जा रहा है।जिसको लेकर भाजपा नेताओं में तकरार चल रही है।कि मिट्टी खनन को बन्द करवाया जाऐ। और मिट्टी का व्यापार करने वालों पर कार्यवाही की जाऐ। लेकिन किसी भी प्रकार की कोई भी कार्यवाही नही की जा रही है।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र में जेसीबी मशीन से मिट्टी खनन और खुदाई का काम चर्म सीमा पर चल रहा है। मंहगे दामों में मिट्टी बेंचकर मिट्टी खनन करके माफिया मालामाल हो रहे है। मिट्टी के व्यापार में जिसको हिस्सा मिल रहा है।वो तो दुम दबाकर शान्त बैठा है। और जिसको नही मिल रहा है।वो खम्मा नौचने का काम कर रहा है। करे भी क्यों ना यह आर्थिक युग है सभी को अपनी अपनी जेबें भरने की पड़ी है। ऐसे में सत्ताधारी जिलाध्यक्ष के आदेशों को कौन तबज्जो देता है। जिलाध्यक्ष ने मिट्टी खनन को बन्द करवाने का आदेश दिया है। फिर भी मिट्टी की खुदाई पर रोक नही लग पा रही है।पुलिस भी दो पाटों के बीच खड़ी है।इधर भी सत्ताधारी है।उधर भी सत्ताधारी है। करें तो क्या करे इस लिए पुलिस भी बेचारी बनकर सभी कुछ देख रही है। मिट्टी खनन पर उपजिलाधिकारी माधौगढ़ शालिगराम का कहना है कि शासन ने मिट्टी खनन पर प्रतिबन्ध हटा दिया है। मिट्टी पर रोयल्टी फ्री कर दी है।सरकारी जगह से मिट्टी खुदाई करने पर कार्यवाही की जायेगी। मिट्टी को मानक के अधिक गहराई से खुदाई कर उठाने पर पर्यावरण विभाग कार्यवाही कर सकता है। इसकी शिकायत प्रर्यावरण विभाग में की जा सकती है। जबकि मिट्टी खनन कर व्यापार किया जा रहा है।और मिट्टी की खुदाई करने वाले लोग मानक के बारे में जानते ही नही है। अपने मनमाने ढंग से गहराई कर नीचे से मिट्टी उठाते है। जिससे पर्यावरण को नुक्सान पहूच रहा है।और समतल उपजाऊ भूमि गडडो में तब्दील हो रही है। और किसी भी सम्बन्धित विभाग के द्वारा मिट्टी खुदाई करने वालों पर रोक नही लगाई जा रही है।ना ही मिट्टी खुदाई कर व्यापार करने वालों पर कार्यवाही की जा रही है।भाजपा मण्डल अध्यक्ष ईंटों गजेन्द्र राजपूत से जानकारी लेने पर उन्होंने बताया है कि हमारे पार्टी के नेताओं में मिट्टी आदि के प्ररकण को लेकर कोई भी दो ग्रुप नही है।ना ही किसी प्रकार की गुट बाजी है।हम सभी लोग एक साथ सामंजस्य की स्थिति में मिलकर कर काम कर रहे है। मिट्टी खनन बन्द कराने के लिए जिलाध्यक्ष के आदेश की हमे कोई सूचना नही है। हमे जिलाध्यक्ष के आदेश की जानकारी नही है। हम तो पार्टी  की गाईड लाईन के अनुसार गांवों में सेनेटाइजर मास्क का बितरण कर रहे है।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,