जनता की सेवा में जुटा है दातागंज का पाठक परिवार

 


दातागंज, राजनीत अगर निःस्वार्थ भाव हो तो जनता के दिलों को जीता जाता है। तहसील दातागंज निवासी पाठक परिवार पुरखों से राजनीत में है।अपनी विरासत को संभालते हुए शैलेश पाठक का पूरा परिवार कोरोना महामारी में लोगों मसीहा बन गए हैं। लगातार लोगों केबीपक को समय सुनकर समाधान किया जा रहा हैदातागंज में संतोष कुमारी पाठक से लेकर उनके पूर्वजों ने क्षेत्र प्रतिनिधित्व किया और हमेशा सेवक बनकर जनता की सेवा की।आज उसी विरासत को संभालने की पूरी कोशिश शैलेश पाठक कर रहे हैंइसमें उनका बेटा अंकित पाठक व बेटी शिप्रा पाठक का भरपूर सहयोग मिल रहा है। कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए पाठक परिवार ने यह संकल्प लिया है कि क्षेत्र में किसी को कोई परेशानी न हो। लाकडाउन के पहले दिन से ही शैलेश पाठक,अंकित पाठक व उनकी बेटी शिप्रा पाठक घर-घर पहुंचकर लोगों की समस्या दूर करने लगे हैं।


पत्रकारों को शैलेश पाठक ने भेंट की पीपीई किट


दातागंज।कोरोनो जैसी आपदा में रात दिन एक कर क्षेत्र की जनता को सटीक खबरों से रूबरू कराने वाले कोरोना योद्धा पत्रकारों को शैलेश पाठक ने अपने आवास पर पीपीई किटभेंट की और सभी के स्वास्थ्य रहने की कामना की।  डॉ.पाठक ने एक प्रेस वार्ता में कहा कि हम सभी को एकजुट होकर इस महामारी से लड़ना है और उसे दूर भगाना है।


विधानसभा क्षेत्र चार लाख मास्क बांटे जाएंगे-अंकित पाठक


दातागंज।  कोरोना के इस संकट में हम साथ हैं मुहिम का शुभारम्भ डा. पाठक ने पूजाअर्चना के साथ किया। इस मुहिम तहत दातागंज विधानसभा क्षेत्र चार लाख मास्क बांटे जाएंगे।मुहिम शुरू करने से पहले डॉ.पाठक पुत्र अंकित पाठक ने नारियल फोड़ा।डॉ.पाठक ने परशुराम जयंती पर 50 हजार मास्क बांटने का संकल्प लिया था। अब उन्होंने चार लाख मास्क बांटने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने क्षेत्र की जनता कहा कि जिसे भी मास्क की आवश्यकता हो उनके मोबाइल नंबर पर सूचित करें। उन सबके घरों तक मास्क भिजवाया जाएगा


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,