कुठौंद बैंको की दशा दिन व दिन होती जा रही है बदतर

लेन देन मे खाताधारको के साथ हो रहा है धोका
आयेदिन रहते है नेटवर्क फैल जिसकी बजह से  पैसे ना मिलने पर मायूस होकर लोट जाते है घर


कुठौंद जालौन कस्वा कुठौंद में स्थित बैकों की दशा दिन व दिन बदतर होती जा रही है। पहले इलाहाबाद बैंक विवादित रही अब भारतीय स्टेट बैंक शाखा कुठौन्द से एक खाता धारक के बगैर उसके हस्ताक्षर किये पन्द्रह हजार दो सौ रूपये की रकम पार हो गयी। पीडित को जैसे ही पता चला वह अबाक रह गया। उसने पूरी मामले की लिखित शिकायत बैंक के उच्च अधिकारियों एवं थाना पुलिस से की है। 
           प्राप्त विवरण के अनुसार कुठौन्द थाना क्षेत्र के ग्राम  लिडऊपुर निवासी विनोद सिंह पुत्र रंजीत सिंह ने दिये गये शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि प्रार्थी का बचत खाता स्टेट बैंक शाखा कुठौन्द में है, धनराशि की जानकारी प्राप्त करने हेतु लेन-देन बाले प्रपत्र पर अपना मोबाइल नं0 अंकित कराया था कि धन जमा एवं निकासी की सूचना समय-समय पर प्रार्थी को मिलती रहेगी। पर बैक के जिम्मेदाराना लोगों की लापरवाही से किसी अन्य व्यक्ति का मोबाइल नं0 अंकित कर दिया जिससे प्रार्थी की जानकारी दूसरे मोबाइल पर जाती रही। इसके बाद प्रार्थी ने आज अपनी पासबुक की इन्ट्री कराई तो वह हतप्रभ रह गया। उसने बताया कि 29 मई 2020 को प्रार्थी के खाते से सात हजार छैः सौ रूपये निकाले गये, इसके बाद 04 जून को भी इतनी ही धनराशि खाते से निकल गयी, इस बारे में बैंक प्रबन्धन तंत्र से भी बात की गयी पर कोई निष्कर्ष नहीं निकल सका। उसने प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जाॅच कराये जाने का थाना पुलिस से अनुरोध किया है। इस बारे में प्रभारी निरीक्षक का कहना है कि अभी मामला संज्ञान में नहीं है, मामले का पता लगाया जा रहा है जाॅचोपरान्त जो भी संभव होगा, कानूनी तौर पर कार्यवाही की जायेगी।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,