लॉक-डाउन की अफवाह फैला रहे जमाखोर

* पान मसाला समेत कई चीजों के बढ़ाये दाम


ललितपुर। 

देश समेत पूरा विश्व कोविड-19 वायरस के संक्रमण से जी-जान से निपटने में लगा है तो वहीं मड़ावरा समेत पूरे जनपद में जमाखोर लॉक-डाउन की अफवाह फैला कर जनता को लूटने में लगे हैं। मड़ावरा कस्बे में भी आगामी 15 जून से सम्पूर्ण लॉक-डाउन लागू किये जाने की अफवाह फैलाई जा रही है जिसके चलते पान मसाला, सिगरेट, बिस्किट समेत कई अन्य जरूरी वस्तुओं के दामों में अचानक तेजी देखने को मिल रही है। कुछ जानकारों का कहना है कि पिछले लॉक-डाउन के समय कस्बे में गुटखा-किंग द्वारा पान मसाला की जमाखोरी कर जमकर काला बाजारी करते हुये लाखों के वारे-न्यारे किये गये। अब स्थिति सामान्य होने पर पान मसाला की आपूर्ति सुचारु होने पर फिर से जमाखोरी की जा रही है और रात के अंधेरे में दो गुने दामों पर कालाबाजारी की जा रही है। पुष्ट सूत्रों द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार गुटखा-किंग पानमसाला का अवैध भंडार अपने गोदाम में ना करके अपने घर समेत पड़ोसी गाँव निवासी अपने पहचान वालों के घर स्टॉक किये हुये है जहाँ से बिस्किट के कार्टून में पानमसाला के पैकेट रखकर अपने चहेते दुकानदारों को कालाबाजारी के लिये बेचे जा रहे हैं। साथ ही महरौनी के कुम्हेडी गांव में भी पानमसाला का अवैध स्टॉक किया गया है। जमाखोरों द्वारा लॉक-डाउन की अफवाह फैलाकर तमाम जरूरी चीजों के दाम बढ़ाकर मुनाफाखोरी की जा रही है और इन सब से प्रशासन आँखे मूँदे बैठा है। 

 

 

 

 

जमाखोरों करने वालों के खिलाफ हो कार्यवाही- संजय खन्ना

कस्बे में पानमसाला, बिस्किट समेत अन्य जरूरी वस्तुओं की ओवररेटिंग किये जाने के सवाल पर व्यापार मण्डल अध्यक्ष संजय खन्ना के कहना है कि जमाखोरों और मुनाफाखोरों के खिलाफ प्रशासन द्वारा सख्त कार्यवाही की जाये।

 

 

 

दुकानदार कर रहे जमाखोरी-अनिल जैन बॉबी

 

कस्बे में प्रतिष्ठित पानमसाला के स्थानीय वितरक अनिल जैन बॉबी ने बताया कि कंपनी द्वारा दी जा रही आपूर्ति के हिसाब से ही निर्धारित दामों पर ही माल दुकानदारों को बेचा जा रहा है, लेकिन कुछ दुकानदारों द्वारा माल डंप कर ब्रांड का नाम बदनाम करने में लगे हैं।

 

 

आपूर्ति की कमी से हो रही ओवररेटिंग- रामजी तिवारी 

 

कस्बे में एसबीआई के पास परचून की दुकान संचालक रामजी तिवारी बताते हैं कि पान मसाले की ओवर-रेटिंग की वजह के पीछे जमाखोरी के साथ-साथ आपूर्ति की कमी भी एक मुख्य कारण हो सकता है। 

 

 

 

बिचौलिये कर रहे जमाखोरी- दिलीप सिंह

 

कस्बे में पान की दुकान संचालित करने वाले दिलीप सिंह बताते हैं कि लॉक-डाउन की फर्जी अफवाह फैला कर कुछ बिचोलिये पानमसाला, बिस्किट समेत अन्य जरूरी सामग्री की जमाखोरी कर रहे हैं। मुनाफाखोरी के चलते आम दुकानदारों और ग्राहकों में बढ़े हुये दाम को लेकर नोंकझोंक हो रही है।

 

 

चहेतों को दिया जा रहा पानमसाला- ब्रजेश साहू

 

लॉक-डाउन की अफवाह फैलने से कस्बे में कई जमाखोर सक्रिय हो गये हैं जिन्हें स्थानीय वितरक द्वारा मनपसंद पानमसाला ऊँचे दामों पर बेचा जा रहा है। 

 

 

शिकायत मिलने पर होगी वैधानिक कार्यवाही: प्रभारी निरीक्षक

 

कस्बे में पानमसाला, सिगरेट, बिस्किट आदि जरूरी वस्तुओं की ओवररेटिंग कालाबाजारी के संबंध में प्रभारी निरीक्षक कृष्ण बीर सिंह ने कहा कि अभी कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है। लिखित शिकायत मिलने पर

ओवररेटिंग कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,