मौदहा के कंटेन्मेंट क्षेत्रों में ड्रोन कैमरे से निगरानी

सीएमओ ने कोरोना पीड़ितों के परिवारीजनों की जानकारी ली

*32 लोगों के सैम्पल जांच के लिए भेजे गए


मौदहा।हमीरपुर।04 जून मौदहा कस्बा सहित क्षेत्र के गांव उरदना में पाये गये कोरोना पाजिटिव रोगियों के कारण जहाँ पूरे क्षेत्र में दहशत व्याप्त है मौदहा कस्बे के तकिया एवं हुसैनगंज मोहल्लों में आज ड्रोन कैमरे से लोगों की निगरानी की गई है। वहीं चिकित्सा विभाग इन मरीजों के परिजनों एवं मिलने जुलने वाले लोगों का सैम्पल निकाल जांच के लिए भेज रहा है आज यहाँ पहुंचे मुख्य चिकित्सा अधिकारी  ने कोरोना पीड़ितों के परिवारीजनों सहित आसपास के लोगों के स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारी ले इन्हें होम कोरांटीन रहने की सलाह दी है।


बताते चलें कि मौदहा कस्बे के तकिया मोहाल निवासी एक सिपाही को सोमवार को कोरोना पाजिटिव पाया गया था और इसके बाद बुधवार को कस्बे के ही हुसैनगंज मोहाल निवासी पीएससी का जवान कोरोना पाजिटिव मिला है।कस्बे के अलावा सिसोलर थाना क्षेत्र के गांव भभई निवासी एक महिला जो कि इस समय अपनी ससुराल मौदहा कोतवाली क्षेत्र के गांव उरदना में है उसे भी कोरोना पाजिटिव पाया गया है।दो दिन में तीन कोरोना पाजिटिव मिलने से हड़कंप मच गया है। स्वास्थ्य विभाग एवं नगरपालिका तथा ग्राम पंचायत के कोरोना योद्धा लगातार अपनी ड्यूटी में मुस्तैदी से लगे हुए हैं जिन इलाकों में कोरोना पाजिटिव मिले हैं उन इलाकों की कंटेन्मेंट जोन घोषित कर इन्हें सील कर दिया गया है। इन  क्षेत्रों में लोगों की निगरानी करने के लिए आज हमीरपुर से आये फायर विभाग के पुलिस क्षेत्राधिकारी राहुल पाल एवं कोतवाली प्रभारी राजेश चन्द्र तिवारी ने ड्रोन कैमरे की मदद से यहाँ की गतिविधियों पर नजर रखी है।सील किये गए इलाके में अगर कोई बेवजह घर से बाहर पाया जाता है तो उस पर कार्यवाही की जाएगी। तो वही आज मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाक्टर राजकुमार सचान एवं मौदहा के चिकित्सा अधीक्षक डाक्टर अनिल सचान ने इन कंटेन्मेंट क्षेत्रों में पहुंच कोरोना पीड़ितों के परिजनों से मिले और इन्हें पूरी तरह से होम कोरांटीन रहने की सलाह दी है। डॉक्टर अनिल सचान ने बताया है कि हुसैनगंज निवासी कोरोना पीड़ित का पांच भाईयों का परिवार एक साथ रहता है पूरे परिवार में कुल 27 लोग हैं जिनकी सैम्पलिंग कर जांच के लिए भेजा गया है।वहीं उरदना गांव में रह रही कोरोना पाजिटिव के परिवार के पांच सदस्यों का सैम्पल जांच के लिए भेजा गया है।इधर प्रशासन द्वारा मौदहा कस्बे के तकिया एवं हुसैनगंज मोहल्लों को कंटेन्मेंट करने के बाद स्थानीय नगरपालिका द्वारा यहाँ के वासिंदों को आवश्यक सामग्री आपूर्ति के लिए कुछ दुकानदारों से होमडिलीवरी शुरू करा दी है लेकिन सबसे बड़ी समस्या उरदना के कंटेन्मेंट क्षेत्र के निवासियों को झेलनी पड़ रही है।यहाँ सील किये गए मोहल्ले वासियों को आवश्यक सामग्री पहुंचाने के लिए प्रशासन द्वारा किसी भी प्रकार व्यवस्था नहीं की गई है जिससे यहाँ के लोगों के सामने दैनिक आवश्यकताओं की चीजों की भारी किल्लत बनी हुई है।वहीं लगातार क्षेत्र में बढ़ रही कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या ने लोगों की नींद हराम कर दी है।लोगों के अंदर भय व्याप्त है।


 

फोटो।ड्रोन कैमरे से निगरानी करते पुलिस अधिकारी

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,