पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव वीडियोकाॅलिंग के जरिए अपने नेताओं-कार्यकर्ताओं से लगातार सम्पर्क बनाए


 


लखनऊ
  समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव वीडियोकाॅलिंग के जरिए अपने नेताओं-कार्यकर्ताओं से लगातार सम्पर्क बनाए हुए हैं। इस तरह वे प्रदेश की राजनीति पर भी अपनी नज़र रखे हैं। जिस किसी से बात होती है वह तो उत्साहित होता ही है अपने आसपास के लोगों का भी परिचय कराना उचित मानते  है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जी सबका हाल चाल पूछते हुए सन् 2022 में जीत के लिए संकल्पित होकर काम करने का निर्देश देना भी नहीं भूलते।
     आज वीडियोकाॅलिंग के जरिए मैनपुरी के श्री दाताराम से अखिलेश यादव जी की बात हुई। वहां बुजुर्ग दद्दा ने जहां अखिलेश जी को पुनः मुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद दिया वहीं श्री दाता राम के दाऊ जी भी बात करके बहुत प्रसन्न नज़र आए और कहा कि वे हमेशा समाजवादी पार्टी के साथ रहे है।
     हापुड़ के गांव उपैड़ा में श्री सुधाकर कश्यप से वार्ता हुई। उन्होंने वहां उपस्थित गांववासियों के अतिरिक्त अपने परिवार से भी अखिलेश जी का परिचय कराया। श्री यादव ने यहां कश्यप जी के बेटे को आशीर्वाद दिया और ठीक से पढ़ाई करने के लिए कहा।
     राठ, हमीरपुर से श्री चन्द्रशेखर चौधरी से भी श्री अखिलेश यादव की बात हुई। श्री चन्द्रशेखर चौधरी इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ के उपाध्यक्ष रहे है। उन्होंने कहा कि नौजवानों में समाजवादी पार्टी के लिए हलचल है। इस बार छात्र-नौजवान भाजपा को 2022 में सत्ता से बाहर करके ही दम लेंगे।
     औरैया जनपद के अछल्दा में बी.बी.ए. के पास मिष्ठान भण्डार के मालिक श्री रजत से जब सम्पर्क हुआ तब वे दूध की बर्फी बना रहे थे। जौनपुर के श्री लाल बहादुर से सम्पर्क के समय श्री अखिलेश यादव के आव्हान पत्र को वितरित किए जाने के सम्बंध में बैठक कर रहे थे। उन्होंने आश्वस्त किया कि सन् 2022 में इस बार कोई चूक नहीं होगी। समाजवादी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी और बहुमत में आएगी।
     श्री अखिलेश यादव ने आजमगढ़ में आज विधायक श्री नफीस अहमद और भरत यादव प्रधान से भी वार्ता की। श्री नफीस अहमद ने बताया कि क्षेत्र में उनके आव्हान की प्रतियां वितरित की जा रही हैं। श्री भरत प्रधान ने कहा कि वे चुनाव तैयारियों में जुटे हैं।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,