प्रदेश में अब तक 1643 श्रमिक स्पेशल ट्रेन से 22.18 लाख से अधिक कामगार/ श्रमिक लाये जा चुके हैं -अवनीश कुमार अवस्थी

प्रदेश में कोरोना के 4318 मामले एक्टिव-अमित मोहन प्रसाद


लखनऊ : 10 जून, 2020 उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश के सभी 75 जनपदों में 15 जून, 2020 तक टूनैट मशीनों को कार्यशील करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण के सम्बन्ध में शीघ्रता से टेस्टिंग परिणाम प्राप्त करने के लिए प्रदेश सरकार ने प्राथमिकता पर टूनैट मशीनें उपलब्ध कराई हैं। उन्होंने टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि के लिए सतत् प्रयास किए जाने पर बल दिया। मुख्यमंत्री जी ने कोविड तथा नॉन कोविड अस्पतालों की व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने के निर्देश देते हुए कहा कि चिकित्सा शिक्षा मंत्री चिकित्सा संस्थानों तथा स्वास्थ्य मंत्री जिला चिकित्सालयों से नियमित संवाद रखते हुए कार्यों की जानकारी प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोरोना से संक्रमित मरीजों के साथ ही, इमरजेंसी मरीजों को अस्पतालों की इमरजेंसी सेवाओं का पूरा लाभ मिले


श्री अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कोविड-19 से होने वाली मृत्यु की दर नियंत्रित किए जाने पर बल देते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमित मरीजों को तत्काल अस्पताल पहुंचाते हुए उनका समुचित उपचार किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि अस्पतालों में अपनी शिफ्ट के दौरान डॉक्टर कम से कम दो बार राउण्ड लें। पैरामेडिकल स्टाफ निरन्तर मरीजों की मॉनिटरिंग करें। उन्होंने अस्पतालों की साफ-सफाई व्यवस्था को बेहतर बनाने, रोगियों को समय से दवा, शुद्ध एवं सुपाच्य भोजन तथा पीने के लिए गुनगुना पानी उपलबध कराने के निर्देश भी दिएमुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कामगारों/ श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में निरन्तर कार्यवाही की जाएइनके लिए विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार की सभी सम्भावनाओं को तलाशा जाए। बैठक में मुख्यमंत्री जी को यह अवगत कराया गया कि आगामी 06 माह की अवधि में 10 लाख नई नौकरी/रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की कार्ययोजना तैयार कर ली गई है। मुख्यमंत्री जी ने मण्डी को एक्सपोर्ट हब के तौर पर विकसित किए जाने के निर्देश भी दिए।


श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में कोरोना से संक्रमित मरीजों की मृत्युदर देश में सबसे कम है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि पुलिस बल को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए सभी उपाय किए जाएंपुलिस द्वारा नियमित पेट्रोलिंग पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से जागरूक करने की व्यवस्था को जारी रखा जाए। सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएजेल के कैदियों को भी कोरोना संक्रमण से से मुक्त रखा जायेयह सुनिश्चित किया जाए कि कन्टेनमेंट जोन में रहने वाले कर्मी कार्यस्थल पर न जाएं


__ श्री अवस्थी ने बताया कि उत्तर प्रदेश गो-वध निवारण अधिनियम को और मजबूत करते हुए उत्तर प्रदेश गो-वध निवारण (संशोधन) अध्यादेश 2020 के प्रारूप को स्वीकृति दे दी गयी है। इसमें सजा के प्राविधान को 07 साल से बढ़ाकर 10 साल तथा अधिकतम 05 लाख रूपये के दण्ड के प्राविधान किया गया है। इस प्रारूप में गो सम्पदा को हानि पहुचाने पर भी दण्ड का प्राविधान तथा इसमें प्रयुक्त वाहनों को जब्त किये जाने का प्राविधान किया गया है। गोवध अधिनियम के तहत 01 जनवरी, 2020 से 08 जून, 2020 तक 1324 मुकदमें पंजीकृत करते हुए 4326 अभियुक्तों में से 3867 लोगों को गिरफ्तार किया गया हैउन्होंने बताया कि 867 मामलों में चार्जशीट/आरोप पत्र भी दाखिल कर दिये गये है। उन्होंने बताया कि 44 अभियुक्तों के खिलाफ एन0एस0ए0 2197 पर गैंगेस्टर एक्ट 1823 पर गुंडा एक्ट के तहत कार्यवाही की गयी तथा 421 की हिस्ट्रीशीट खोली गयी है।


श्री अवस्थी ने बताया कि धारा 188 के तहत 63,810 एफआईआर दर्ज करते हुये 1,75,188 लोगों को नामजद किया गया है। प्रदेश में अब तक 61,28,541 वाहनों की सघन चेकिंग में 53,671 वाहन सीज किये गये। चेकिंग अभियान के दौरान 27,48,20,036 रूपए का शमन शुल्क वसूल किया गया। आवश्यक सेवाओं हेतु कुल 2,92,860 वाहनों के परमिट जारी किये गये हैंकालाबाजारी एवं जमाखोरी करने वाले 910 लोगों के खिलाफ 692 एफआईआर दर्ज करते हुए 323 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के तहत अब तक 1418 मामलों को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही की गई है। 10 जून को कुल 10 मामले, जिनमें ट्विटर के 03, फेसबुक के 05, टिकटॉक के 02 मामले को संज्ञान में लिया गया हैं तथा साइबर सेल को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित। 10 जून तक ट्वीटर के 79, फेसबुक के 77, टिकटॉक के 47 तथा व्हाटसएप के 01 एकाउण्ट कुल 204 एकाउण्ट्स को ब्लॉक किया जा चुका है। अभी तक कुल 50 एफआईआर पंजीकृत कराई गई हैविभिन्न जनपदों में 16 लोगों को गिरफ्तार किया गयाउन्होंने बताया कि प्रदेश की 97,997 औद्योगिक इकाइयों में से 89,642 इकाइयों द्वारा रु0 1833.81 करोड़ के वेतन का वितरण किया जा चुका है। निर्माण कार्यों से जुड़े 18.04 लाख श्रमिकों, नगरीय क्षेत्र के 8.86 लाख श्रमिकों तथा ग्रामीण क्षेत्रों के 6.71 लाख निराश्रित व्यक्तियों को रु0 1,000–1,000/- के आधार पर कुल 33.60 लाख लोगों को 335.99 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है।


श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में हॉटस्पॉट वाले बस्तियों में 3919 डोर स्टेप डिलिवरी मिल्क बूथ/मैन के द्वारा दूध वितरित किया गया है। डोर स्टेप डिलिवरी ‘फल, सब्जी आदि' कुल 5482 वाहन लगाये गये हैं। डोर स्टेप डिलिवरी वाले प्रोविजन स्टोर की संख्या 4945 है। प्रोविजन स्टोर के माध्यम से डिलिवरी करने वाले व्यक्तियों की संख्या 5914 हैहॉट स्पॉट क्षेत्रों में कुल 101 प्रचलित सामुदायिक किचन हैं। उन्होंने बताया कि गेहूं के घोषित न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा 5896 क्रय केन्द्रों एवं मण्डी परिषद द्वारा गेहूँ की खरीद की जा रही है। श्री अवस्थी ने बताया कि देश में सबसे अधिक कामगार उत्तर प्रदेश में आये हैं। उन्होंने कहा कि दक्षिण के राज्यों से भी हम अपने कामगारों/ श्रमिकों को प्रदेश में लाने में सफल हुए हैं। प्रदेश में अब तक 1643 ट्रेन से 22,18,578 लोगों को प्रदेश में लाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि गोरखपुर में अब तक 279 ट्रेन से 3,57,850 कामगार एवं श्रमिक आये हैं। उन्होंने बताया कि आगरा में 12, कानपुर में 17, लखनऊ में 126 ट्रेन, जौनपुर में 139, बरेली में 12, बलिया में 71, प्रयागराज में 64, प्रतापगढ़ में 76, रायबरेली में 22, वाराणसी में 123, अमेठी में 17, मऊ में 49, कन्नौज में 03, गाजीपुर में 33, बांदा में 21, सुल्तानपुर में 28, लखीमपुर खीरी में 01, हरदोई में 20, आजमगढ़ में 46, अयोध्या में 37, बाराबंकी में 12, सोनभद्र में 04, गोण्डा में 71, अम्बेडकरनगर में 25, सीतापुर में 13, फतेहपुर में 09, उन्नाव में 28, बस्ती में 89 ट्रेन, फर्रुखाबाद में 02, कासगंज में 09, चंदौली में 17, मानिकपुर (चित्रकूट) में 01, एटा में 01, जालौन में 02, इटावा में 01, रामपुर में 01, शाहजहांपुर में 01, अलीगढ़ में 06, मिर्जापुर में 11, देवरिया में 104, सहारनपुर में 04, चित्रकूट में 03, बलरामपुर में 19, झांसी में 05, कौशांबी में 01 ट्रेन, पीलीभीत में 01, भदोही में 04, मुजफ्फरनगर में 01, महाराजगंज में 01 एवं महोबा में 01, आ चुकी हैं। मुरादाबाद, मेरठ, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, संत कबीर नगर, कुशीनगर, हमीरपुर, बहराइच, में भी ट्रेन आ रही हैं। श्री अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में गुजरात से 548 ट्रेन से 7,98,089 लोग, महाराष्ट्र से 429 ट्रेन, पंजाब से 235 ट्रेन कामगारों/ श्रमिकों को लेकर प्रदेश में आ चुकी हैं। इसके साथ ही तेलंगाना से 25, कर्नाटक से 58, केरल से 19, आन्ध्र प्रदेश से 14, तमिलनाडु से 40, मध्य प्रदेश से 04, राजस्थान से 39, गोवा से 17, दिल्ली से 103, छत्तीसगढ़ से 01, पश्चिम बंगाल से 04, उड़ीसा से 01 ट्रेन, त्रिपुरा से 01 ट्रेन, हिमाचल प्रदेश से 04 ट्रेन, असम से 01 ट्रेन, उत्तराखण्ड से 04, जम्मू-कश्मीर से 02 तथा उत्तर प्रदेश से 94 ट्रेन के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जनपदों में कामगारों/ श्रमिकों को पहुंचाया गया है। उन्होंने बताया कि दूसरे राज्यों उड़ीसा, झारखण्ड, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों के ईंट भट्ठा श्रमिकों को उनके राज्य में भेजे जाने की व्यवस्था प्रदेश सरकार द्वारा की जा रही है।


प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल अब तक की एक दिन में सर्वाधिक 13,264 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 4,04,637 सैम्पल की जांच की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 75 जनपदों में 4,318 कोरोना के मामले एक्टिव हैं। उन्होंने बताया कि अब तक 6,971 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। पूल टेस्ट के अन्तर्गत 1082 पूल 5-5 सैम्पल तथा 88 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। इनमें 05-05 के सैम्पल वाले पूल में 124 पूल तथा 10-10 के सैम्पल पूल ग्रुप में 11 पूल पॉजिटिव पाये गये हैश्री प्रसाद ने बताया कि आशा वर्कर्स द्वारा अब तक 14,72,520 कामगारों/ श्रमिकों से उनके घर पर जाकर सम्पर्क किया गया, जिनमें से 1400 से अधिक लोगों में कोरोना जैसे लक्षण पाये गये हैंउन्होंने बताया कि ग्राम एवं मोहल्ला निगरानी समितियों के द्वारा निगरानी का कार्य सक्रियता से किया जा रहा है। अब तक सर्विलांस टीम द्वारा 87,04,395 घरों के 4,43,27,719 लोगों का सर्वेक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि आरोग्य सेतु ऐप से जो अलर्ट जनरेट आने पर कन्ट्रोल रूम द्वारा निरन्तर फोन किया जा रहा है। उन्होंने हवाई जहाज एवं ट्रेन से आ रहे लोगों से अपील की है कि अपने सामाजिक उत्तरदायित्व का निर्वहन करते हुए होम क्वारंटाइन की अवधि को अवश्य पूरा करें। उन्होंने कहा कि होम क्वारेन्टाइन का उल्लंघन करना दण्डनीय अपराध भी है


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,