सफलता: बैंक के आसपास बैंक उपभोक्ताओं एवं दुकानों में दुकानदारों को चपत लगाने वाले पकड़े गए चोर







चोरों से 90 हजार रुपया, चाकू बरामद व अन्य सामग्री बरामद

* पुलिस की सख्त कार्यवाही से अपराधियों में दहशत 

* मड़ावरा में दे रहे थे चोरी की घटना को अंजाम


 

ललितपुर।

पुलिस अधीक्षक कैप्टन एम.एम. बेग के निर्देशन में चलाये जा धरपकड़ अभियान अंतर्गत मड़ावरा पुलिस को बड़ी कामयाबी हाँथ लगी है। बीते कई दिनों से कस्बा मड़ावरा में बैंक के आसपास बैंग उपभोक्ताओं एवं दुकानदारों को दुकान सहित भीड़भाड़ वाले इलाके में लोगों के रूपये उड़ाने वाले तीन टप्पेबाज चोरों को गिरफ्तार करने की पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। चोरों के पास से पुलिस को 90 हजार रुपये नकद व अन्य सामग्री बरामद हुई है। 

इंस्पेक्टर मड़ावरा कृष्ण बीर सिंह ने बताया कि उन्हें टप्पेबाज चोरों की लगातार सूचना मिल रही थी। सूचना के बाद इनकी तलास शुरू की गई। गुरुवार को मुखबिर द्वारा  सूचना प्राप्त हुई कि तीन संदिग्ध युवक एक हरे रंग की बाइक के साथ कस्बे के ग्रामीण बैंक के पास किसी वारदात को अंजाम देने के वास्ते खड़े हैं। सूचना मिलते ही प्रभारी निरीक्षक कृष्णवीर सिंह के नेतृत्व में एक पुलिस टीम तत्काल मौके पर पहुंची तो पता लगा कि वह महारौनी की ओर निकल गये हैं। संदिग्धों का पीछा करने पर पुलिस टीम द्वारा मोटरसाइकिल से महारौनी की तरफ भाग रहे तीन युवकों को गल्ला मंडी के आगे रोककर पूंछताछ एवं जामातलाशी ली गयी। युवकों द्वारा अपना नाम क्रमशः राजकुमार मोंगिया पुत्र फूलचंद्र, वीरेन्द्र मोंगिया पुत्र बरम सिंह,  अजीब मोंगिया पुत्र जसम सिंह मोंगिया महरौनी कोतवाली अंतर्गत ग्राम सिंगेपुर निवासी बताया गया। जामातलाशी में युवकों के पास से एक छुरी समेत कुछ हजार रुपये नगदी बरामद की गई। थाने में लेकर पूछताछ में युवकों द्वारा बीते दिनों मड़ावरा में अंजाम दी गयी चोरी की कई घटनाओं को स्वीकार भी कर लिया। गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों की निशानदेही पर मड़ावरा पुलिस द्वारा कई स्थानों से चुराए गये कुल 90 हजार रुपये बरामद कर लिये गये। 

 

आरोपियों की गिरफ्तारी एवं माल बरामदगी के दौरान प्रभारी निरीक्षक कृष्णवीर सिंह, उपनिरीक्षक अनिल सिंह, कांस्टेबिल गुलाब राठौर, विवेक राठौड़, बालकिशन, रतन कुमार, महिला कांस्टेबिल अंजू यादव, वाहन चालक भूपेंद्र सिंह मौजूद रहे। 

 

 

 

काफी शातिर अपराधी है आरोपीगण: प्रभारी निरीक्षक

मामले के पटाक्षेप के दौरान पर प्रभारी निरीक्षक कृष्णवीर सिंह ने बताया कि अभियुक्त काफी शातिर और पेशेवर जान पड़ रहे हैं जिन्होंने कस्बे में चोरी की कई वारदातों को अंजाम दिया। आरोपियों का आपराधिक इतिहास भी खंगाला जा रहा है हो सकता है कि अन्य जगहों पर भी आपराधिक घटनाओं में इनका हाथ रहा हो।

 

 


 

 


 




 

 

 


 



 



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,