सफेदाबाद में एक ही परिवार के 5 लोगों द्वारा आत्म हत्या किया जाना अत्यंत स्तब्धकारी और दुःखद घटना-प्रमोद तिवारी

कांगे्रस के वरिष्ठ नेता श्री प्रमोद तिवारी ने कहा है कि लखनऊ, बाराबंकी सीमा पर स्थित सफेदाबाद में एक ही परिवार के 5 लोगों द्वारा आत्म हत्या किया जाना अत्यंत स्तब्धकारी और दुःखद घटना है, ऐसा कहा जाता है कि भूख और प्यास से पीड़ित होने के कारण अवसाद में जाने के बाद इस परिवार ने कोई और रास्ता न देखकर सामूहिक आत्म हत्या का दुःखद निर्णय लिया ।
श्री तिवारी ने कहा है कि इसके पूर्व बांॅदा में दो मजदूरों श्री सुरेष एवं श्री मनोज द्वारा तथा लखीमपुर में एक अन्य श्रमिक श्री भानु प्रकाष गुप्ता द्वारा, और आज सुबह मुजफ्फर नगर में किसान द्वारा आत्म हत्या करने की खबर के बाद तीन दिन के अन्दर ही एक सम्पूर्ण परिवार द्वारा आत्म हत्या किये जाने की घटना यह बयान करने के लिये पर्याप्त है कि ‘‘मोदी सरकार’’ या ‘‘योगी सरकार’’ द्वारा जो दावा किया जा रहा है वे दावे मात्र झंूॅठे हैं ।
श्री तिवारी ने कहा है कि आज आम आदमी और गरीब मजदूर भूख और प्यास से पीड़ित होकर अन्तिम कदम उठा रहा है, जो किसी भी सरकार के लिये बेहद शर्मनाक है । बांॅदा, मुजफ्फरनगर, लखीमपुर खीरी की घटना और बाराबंकी में सामूहिक आत्म हत्या की घटना की जांॅच के लिये एक ‘‘न्यायिक जांॅच कमेटी’’ का गठन किया जाय, जिससे सच्चाई सामने आ सके , अन्यथा सरकार की ‘‘रामराज’’ की कहानी आ चुकी होगी अथवा आ जायेगी ।
श्री तिवारी ने मृृतकों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की है ।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,