भाजपा सरकारों में पुलिस की कार्यशैली हमेशा सवालों के घेरे में रही:अखिलेश

पुलिस के लोग मुखबिरी कर खुद अपने साथियों को शहीद करा रहें, सरकार जिम्मेदारी से बच नहीं सकती
लखनऊ। सपा अध्यक्ष अखिलेशप यादव ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी की सरकारों में पुलिस की कार्यशैली हमेशा सवालों के घेरे में रही हैं। भाजपा सरकार में विपक्ष के नेताओं पर झूठे मुकदमें लिखवाए। प्रताडि़त कराया, पुलिस ने बहुत सारे फ र्जी एनकाउंटर किए हैं। निर्दोष लोगों को मारा। राष्टï्रीय मानवधिाकर से सबसे ज्यादा नोटिसें यूपी सरकार को मिली हैं। यादव ने कहा कि सरकार और मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी होती है कि सबको न्याय मिले। लेकिन जब राज्य का मुख्यमंत्री खुद ठोंक देने जैसी भाषा का प्रयोग करेंगे तो लोगों को न्याय कैसे मिलेगा। कानपुर के बिकरू कांड के अपराधी विकास दुबे को लेकर यादव ने कहा कि कि पुलिस अपराधी से मिली हुई थी। पुलिस के लोगों ने खुद मुखबिरी करके अपने साथियों को शहीद करा दिया। अधिकारी अपराधियों से मिले है। यह जिम्मेदारी सरकार की है। इसे कौन देखेगा। सरकार को पता ही नहीं है कि पूरा का पूरा थाना और उसके अधिकारी अपने ही साथियों के खिलाफ काम कर रहे हैं। यादव ने कहा कि नाटकीय आत्मसर्मपण के बाद जब यूपी की पुलिस उसे लेकर मध्य प्रदेश से लेकर चली थी, तभी बहुत से लोगों को शक था कि वह जिंदा नहीं पहुंच पाएगा। क्योंकि उसके पास सरकार और अधिकारियों के बहुत सारे राज थे। अगर वह राज बता देता तो सरकार की पोल खुल जाती। विकास दुबे के आपराधिक कृत्य में कौन-कौन लोग शामिल थे, इसक ा पर्दापाश होना जरूरी था। राजनीतिक दलों से विकास दुबे के संबंधों को लेक अखिलेश ने कहा कि हम तो लगातार मांग कर रहे हैं की विकास दुबे और उसके सहयोगियों के मोबाइल सीडीआर निकालकर जारी कर करना चाहिए। जिससे पता चल जाए कि उसके किस राजनीतिक दल के लोगों से संबंध थे,्र किन नेताओं से संबंध थे, और कौन लोग उसको संरक्षण देते थे। अखिलेश ने कहा कि टेक्नोलॉजी का जमाना है उसका कॉल डिटेल निकालने से बहुत सारी चीजें साफ हो जाएंगी। यादव ने कहा कि उसकी पत्नी की सपा की सदस्यता की पुरानी पर्ची दिखना और उसकी मां से कहलवाना भाजपा की साजिश और षडयंत्र का हिस्सा है। लोग सब समझते है कि बीजेपी जब फं सती है तो वह दूसरों को फं साने की कोशिश करती है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने मिस्ड कॉल के जरिए जो सदस्य बनाए हैं, अगर उसकी डिटेल जारी कर दी जाए तो पता चल जाएगा कि बहुत सारे अपराधी भी भाजपा के सदस्य बन गए हैं। इस समय सबसे ज्यादा अपराधी भाजपा में है। यह देश की सबसे बड़ी जातिवादी पार्टी है। भाजपा मुख्य मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए दूसरों पर आरोप लगाती है। सपा अध्यक्ष ने कहा कि समाजवादी पार्टी हमेशा अपराध और अपराधियों के खिलाफ  रही है। हमने पिछले चुनावों में अपराधियों को टिकट नहीं दिया। हम विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़े लेकिन भाजपा नफ रत की राजनीति करती है। उसने समाज में नफरत फैलाया। वह फू ट डालो और राज करो की नीति पर काम करती है।  कानपुर की कांड में पुलिस के लोगों ने खुद मुखबिरी करके अपने साथियों को शहीद करा दिया यह जिम्मेदारी भी सरकार की है। सरकार को पता ही नहीं है कि पूरा का पूरा थाना और उसके अधिकारी अपने ही साथियों के खिलाफ काम कर रहे हैं।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,