डाक विभाग की अनूठी पहल : सावन माह में डाकघर से पाएं गंगोत्री का पवित्र गंगाजल, मात्र ₹30 में 250 मिली. गंगाजल






कोरोना महामारी के दौर में सावन में भोलेनाथ के अभिषेक को लें डाकघर से गंगोत्री का पवित्र गंगाजल

 

यदि आप कोरोना महामारी के इस दौर में सावन के पवित्र माह में गंगोत्री के गंगाजल से भगवान शंकर का अभिषेक करने को इच्छुक हैं तो डाक विभाग आपकी यह साध आसानी से पूरी कर देगा। आप अपने शहर के प्रधान डाकघर सहित चयनित डाकघरों से गंगा के उद्गम स्थान गंगोत्री से संग्रहित शुद्ध गंगाजल खरीद सकते हैं और वह भी 250 मिलीलीटर महज 30 रूपये में। उक्त जानकारी लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी। लखनऊ जीपीओ, लखनऊ चौक सहित सभी प्रधान डाकघरों में इसके लिए विशेष प्रबंध किए गए हैं। 

 

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि सावन माह में बाबा भोलेनाथ के अभिषेक या अन्य अनुष्ठान हेतु  गंगाजल लाने के लिए अब गंगोत्री, ऋषिकेश, हरिद्वार  या इलाहाबाद और बनारस के गंगा तट जाने की जरुरत नहीं है, बल्कि अब गंगा जल डाकघरों के माध्यम से उपलब्ध होगा। अगर आपको गंगा जल की जरूरत है तो प्रधान डाकघर और अन्य चयनित डाकघरों के काउंटर पर जाइए, निर्धारित कीमत अदा कीजिए और गंगा की उद्गम स्थली गंगोत्री से संग्रहित शुद्ध गंगाजल घर ले जाइए। डाक निदेशक श्री यादव ने  कहा कि गंगाजल बिक्री से लाभ कमाने का मकसद नहीं है, बल्कि डाक विभाग ने गंगाजल के प्रति लोगों की असीम आस्था एवं विश्वास की पवित्र भावना का सम्मान करते हुए गंगोत्री से संग्रहित गंगाजल को उन तक पहुंचाने का प्रयास किया है, जिससे कि लोग लाभान्वित हो सकें। 

 

लखनऊ जीपीओ के चीफ पोस्टमास्टर श्री आरएन यादव ने बताया कि जीपीओ में गंगाजल बिक्री हेतु विशेष प्रबंध किए गए हैं। डाकघर से गंगाजल खरीदने वाली आराधना त्रिवेदी ने बताया कि डाकघर की यह पहल श्रद्धालुओं के लिए वरदान है और दाम भी किफायती हैं। कोरोना महामारी के दौर में अपने ही नजदीकी डाकघर में गंगाजल की उपलब्धता शिवभक्तों के लिए मुहमांगी मुराद जैसी है।


 

 




 






 


 






 

 




 




 


 



 



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,