खेत तालाब योजना-लक्ष्य तो बढ़ा दिया, पर नहीं दिया बजट नहीं खुदे 60 फीसदी खेत तालाब

हमीरपुर 13 जुलाई 2020।दैवी आपदा को झेल रहे बुन्देलखण्ड के लिए महत्वाकांक्षी योजना खेत तालाब में 60 फीसदी तालाबों को अभी तक खोदा नही जा सका है। इस साल के 1500 नए तालाब बनवाने का लक्ष्य और दे दिया गया है। मंडल के चारो जिलों में 4167 खेत तालाब बनवाने का लक्ष्य दिया गया था। जिसमें से 1976 खेत तालाब बनवाए गये हैं। अधिकारी बजट न होने की बात कह रहे हैं।खेत तालाब बनवाने में सबसे ज्यादा लक्ष्य बाँदा को दो हजार का दिया गया था जबकि सबसे कम हमीरपुर जिले को 675 का दिया गया था। सबसे कम महोबा     ने 312 बनवाये जबकि हमीरपुर ने भी 318 बनवाकर मंडल में तीसरा स्थान पाया। हमीरपुर के कई किसानों का कहना है कि वे कार्यालयों के चक्कर लगा रहे हैं, मगर उन्हें बजट न होने की बात कहकर टरका दिया जाता है। खेत तालाब योजना वर्ष 2013 में शुरू हुई थी।जिसमे छोटे बड़े सभी किसान लाभान्वित होते हैं।मूल लागत पर तालाब बनाने के बाद खाते में 50 फीसदी अनुदान भेज दिया जाता है। छोटे तालाब की लागत 1.05 लाख तथा मध्यम तालाब की लागत 2.28 लाख रुपये है। उप निदेशक नरेंद्र कुमार ने बताया कि मध्यम तालाब के लिए बजट ही नहीं आया, जिससे शत प्रतिशत लक्ष्य को पूरा नहीं किया जा सका।मंडल में पहले 2975 तालाब का लक्ष्य दिया गया था, जिसे बाद में और बढ़ा दिया गया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,