उ0प्र0 वाटर सेक्टर रिस्ट्रक्चरिंग परियोजना के द्वितीय चरण के कार्यों हेतु 4862 लाख रूपए अवमुक्त

लखनऊ दिनांक: 22 जुलाई, 2020

 

 

सिंचाई जल संसाधन विभाग के अधीन संचालित उ0प्र0 वाटर सेक्टर रिस्ट्रक्चरिंग परियोजना के द्वितीय चरण के कार्यों के लिए प्राविधानित धनराशि 27500 लाख रूपए के सापेक्ष दूसरी तिमाही जुलाई, अगस्त व सितम्बर हेतु 4862 लाख रूपए की धनराशि अवमुक्त की गयी है। इस सम्बंध में 17 जुलाई, 2020 को शासनादेश जारी करते हुए प्रमुख अभियन्ता एवं विभागाध्यक्ष सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग को अग्रेत्तर कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये गये हैं।

शासनादेश में 4862 लाख रूपए की धनराशि में से मुख्य अभियन्ता रामगंगा को 4200 लाख रूपए, मुख्य अभियन्ता बेतवा 281 लाख रूपए, मुख्य अभियन्ता आईएसओ को 80 लाख रूपए, मुख्य अभियन्ता पैक्ट 150 लाख रूपए, मुख्य अभियन्ता सज्जा एवं सामग्री को 100 लाख रूपए, मुख्य अभियन्ता जल संसाधन 11 लाख रूपए, मुख्य अभियन्ता परिकल्प 05 लाख रूपए तथा मुख्य अभियन्ता स्वारा को 35 लाख रूपए आवंटित किये गये हैं। 

इस परियोजना के लिए अवमुक्त की जा रही धनराशि से कराये जाने वाले कार्यों में व्यय प्रबंधन एवं शासकीय व्यय में मितव्ययिता बरतने के निर्देश दिये गये हैं। 

इसी प्रकार इस परियोजना के द्वितीय चरण के कार्यों के लिए 30 लाख रूपए की धनराशि निदेशक रिमोट सेन्सिंग एप्लीकेशन सेन्टर लखनऊ को भी अवमुक्त की गई है। 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,