जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी की अध्यक्षता में ई-चौपाल का आयोजन


हमीरपुर 08 अगस्त 2020
  जनपद में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत 08 अगस्त से 15 अगस्त 2020 तक चलने वाले साप्ताहिक "गंदगी मुक्त भारत अभियान" के संबंध में जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी की अध्यक्षता में ई-चौपाल का आयोजन किया गया।
        गंदगी मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत 09 अगस्त को ग्राम पंचायतों में सिंगल यूज प्लास्टिक को एकत्रीकरण एवं पृथक्करण का अभियान चलाया जाएगा । इसमें स्वच्छाग्राहियों, ग्राम वासियों से सहयोग एवं श्रमदान लिया जाएगा, प्लास्टिक को एकत्र कर सुरक्षित स्थान पर रखा जाएगा प्लास्टिक का प्रयोग न करने हेतु संकल्प लिया जाएगा। 10 अगस्त को पंचायत भवन, बरातशाला एवं सामुदायिक भवनों में विशेष अभियान के तहत साफ-सफाई आवश्यकतानुसार पुताई कराई जाएगी। 11 अगस्त को ग्राम पंचायतों में सार्वजनिक स्थलों पर आवश्यकतानुसार स्वच्छ भारत मिशन से संबंधित संदेशों की वॉल पेंटिंग कराई जाएगी। 12 अगस्त को ग्राम पंचायतों में आवश्यक स्थलों, सार्वजनिक स्थलों में ग्राम वासियों के द्वारा श्रमदान करते हुए वृक्षारोपण एवं पूर्व में लगाए गए वृक्षों को श्रमदान कर व्यवस्थित कराया जाएगा। 13 अगस्त को कक्षा 6 से 8 के छात्रों का ऑनलाइन पेंटिंग कंपटीशन तथा कक्षा 9 से 12 के छात्रों को गंदगी मुक्त भारत अभियान विषयक निबंध प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। 14 अगस्त को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की सफाई एवं सैनिटाइजेशन किया जाएगा इसमें आशा एएनएम का सहयोग लिया जाएगा। 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सोशल डिस्टेंस का प्रयोग करते हुए आम सभा बुलाते हुए ग्राम सभा  को ओडीएफ प्लस घोषित किया जाएगा। जिलाधिकारी ने ई-चौपाल में ग्राम प्रधानों से गंदगी मुक्त भारत अभियान की कार्ययोजना के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की तथा जरूरी दिशा निर्देश दिए।
   ई-चौपाल में जिलाधिकारी ने सभी प्रधानों से संवाद कर उनकी समस्याओं को सुना तथा उनके शीघ्र निराकरण हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया । जिलाधिकारी ने बताया कि  जिले में मनरेगा के अंतर्गत रोजगार देने में जिले में बहुत अच्छा कार्य हुआ है इससे हमीरपुर जनपद यूपी के टॉप 5 जिलों में शामिल हुआ है। अतः इस कार्य को बरकरार रखा जाए तथा ग्राम पंचायतों में मनरेगा के तहत अनिवार्य रूप से काम चालू रखे जाएं। जनपद में 70 हजार कुंटल के भूसा बैंक स्थापित होने पर जिलाधिकारी ने  प्रसन्नता व्यक्त की तथा इसका श्रेय ग्राम प्रधानों को दिया । इसका उपयोग अन्ना जानवरों हेतु किया जाएगा। ग्राम प्रधानों द्वारा ग्राम समाज की जमीनों में अवैध कब्जे की समस्या बताए जाने पर जिलाधिकारी ने संज्ञान लेकर तत्काल ग्राम पंचायतों की जमीनों से कब्जे हटाने हेतु संबंधित को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि अवैध कब्जे व अतिक्रमण के संबंध में सभी खंड विकास अधिकारी प्रधानों से लिस्ट लेकर अवगत कराया जाए। इसके अलावा ग्राम प्रधानों द्वारा जो भी अन्य सुझाव दिए जा रहे हैं उनको लिखित में लेकर तत्काल अवगत कराया जाए ताकि उनका शीघ्र निराकरण किया जा सके।
    ई-चौपाल में जनपद के सभी खंड विकास अधिकारी, सभी ग्राम पंचायतों के प्रधान व अन्य संबंधित कनेक्ट / सम्बद्ध रहें।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,