कोविड-19 की जंग में जुड़ेगी विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम*

शासन की नई पहल*

 

*15 दिनों के सेवा योगदान के लिए मिलेंगे 75,000 रुपए मानदेय*

 

*प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत बीमा योजना का भी लाभ*

 

*हमीरपुर।* 21 अगस्त-2020 । 

 

कोविड-19 के खिलाफ चल रही जंग में अब प्रदेश सरकार द्वारा हर जिले में विशेषज्ञ डॉक्टरों की मदद लेने की योजना शुरू की गई है। योजना से जुड़ने के इच्छुक विशेषज्ञ डॉक्टरों के लिए स्वास्थ्य विभाग ने 18 अगस्त से पंजीकरण शुरू कर दिया है। जल्दी ही इनकी सूची हर जिले को मिल जाएगी ताकि जरूरत के मुताबिक कोरोना के खिलाफ जंग में इन विशेषज्ञों की मदद ली जा सके।

 

योजना से जुड़ने वाले विशेषज्ञ डॉक्टरों को 15 दिनों के सेवा योगदान के लिए 75,000 रुपए का मानदेय दिया जाएगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के तहत बीमा योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। ड्यूटी के दौरान डॉक्टर को पीपीई किट और अन्य जरूरी उपकरण भी उपलब्ध कराए जाएंगे। एक्टिव क्वॉरंटीन में रहने और भोजन की व्यवस्था भी स्वास्थ्य विभाग करेगा। इसके अलावा सेवा के सम्मान में प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया जाएगा।

 

 

*इन विशेषज्ञों को मिलेगी वरीयता* 

 

विशेषज्ञ डॉक्टरों की श्रेणी में एनेस्थेटिस्ट, कार्डियोलाजिस्ट, नेफ्रोलाजिस्ट, चेस्ट फिजिशियन, गायनेकोलाजिस्ट और पीडियाट्रिसियन से ही आवेदन मांगे गए हैं। योजना के बारे में अधिक जानकारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा योजना से जुड़ने के लिए विशेषज्ञ डॉक्टर अपने जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी के ई-मेल आईडी पर आवेदन कर सकते हैं ।  

 

 

*शासनादेश के बाद स्वास्थ्य विभाग ने शुरू की प्रक्रिया* 

 

इस संबंध में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद द्वारा जारी किए गए पत्र में कहा गया है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए एहतियात के तौर पर यह योजना लाई गई है ताकि किसी भी आपात स्थिति में स्वास्थ्य विभाग को विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी का सामना न करना पड़े। उधर, इस संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.आरके सचान का कहना है कि इस संबंध में मानदेय पर विशेषज्ञ डॉक्टरों को रखे जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। जल्द ही इसके लिए आवेदन मांगे जाएंगे। इस योजना से कोरोना के इलाज में विशेषज्ञ डॉक्टरों की किसी से भी छुटकारा मिलेगा।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,