माँ से ममता शब्द बना, माँ ममता का रूप l

माँ से ममता शब्द बना, माँ ममता का रूप l


माँ  जैसा  दूजा नहीं,  तेरा दिव्य स्वरूप ll 


कर लें माँ को याद हम, मदर्स-डे आया आज l


किरपा जिसकी  से हुए,  सफल हमारे काज ll


मेरी हर साँस तेरी माता, हर धड़कन में तेरा वास  l


शत-शत वन्दन करते जल थल वायु अग्नि आकाश ll


हो नतमस्तक मैं वंदन करूँ, पूजनीय हे मात l


कृपा आपकी बनी रहे, प्रातः शाम दिन-रात ll 


हर पल पाला जिसने हमको, करें याद  हर रोज l


'ओम' की ॐ से प्रार्थना, माँ कृपा करें हम मौज ll


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,