टैबलेट में गैरसंचारी रोगों से ग्रसित मरीजों का डेटा फीड होगा

हमीरपुर। 19 अगस्त 2020 


जनपद के दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य सेवाओं की कमान संभालने वाले ब्लाक कम्युनिटी ऑफीसर (सीएचओ) को बुधवार को टैबलेट का वितरण किया गया। आज के वितरण के साथ ही जनपद के समस्त हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर में तैनात सीएचओ टैबलेट से लैस हो गए हैं। इस टैबलेट में सीएचओ अपने-अपने इलाके के गैरसंचारी रोगों से ग्रसित 30 साल से ऊपर के मरीजों का डाटा फीड करेंगे ताकि जरूरत पड़ने पर मरीजों की केस हिस्ट्री एक क्लिक से आसानी से देखी जा सके। 


राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यालय में जनपद के सोलह सीएचओ को बुधवार को राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (एनएचएम) के जिला प्रबंधक सुरेंद्र साहू और जिला समुदाय प्रक्रिया प्रबंधक (डीसीपीएम) मंजरी गुप्ता ने टैबलेट का वितरण किया। डीसीपीएम ने बताया कि जनपद में कुल 42 हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटर हैं, जहां सीएचओ की तैनाती है। जो ग्रामीण इलाकों की स्वास्थ्य सेवाओं की कमान संभाले हुए हैं। इससे पूर्व 26 सीएचओ को टैबलेट का वितरण किया जा चुका था। शेष 16 सीएचओ टैबलेट से वंचित थे। जिसमें पंद्रह नए सीएचओ हैं, जिनकी अभी हाल ही में ज्वाइनिंग हुई है। शेष एक पुराने सीएचओ थे, जो टैबलेट से वंचित थे। आज 16 सीएचओ को टैबलेट वितरण के साथ ही जनपद के सभी सीएचओ इससे लैस हो चुके हैं। 


डीसीपीएम ने बताया कि इस टैबलेट में 30 साल से ऊपर के गैरसंचारी रोगों से ग्रसित मरीजों का डेटा फीड किया जाएगा ताकि समय पड़ने पर ऐसे मरीजों की केस हिस्ट्री को एक क्लिक में ही प्राप्त किया जा सके। उन्होंने बताया कि डायबिटीज, हाइपरटेंशन और तीन तरह के कैंसर से ग्रसित मरीजों के बारे में टैबलेट में संपूर्ण जानकारी दर्ज की जाएगी।




राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कार्यालय में सीएचओ को टैबलेट वितरित करते जिला प्रबंधक एनएचएम सुरेंद्र साहू व डीसीपीएम मंजरी गुप्ता।


  


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,