आज़मगढ़ में इन दिनों लव जिहाद का मामला तूल पकड़ रहा

आज़मगढ़ रोडवेज से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। रिपोर्ट के अनुसार सलीम खान निवासी (हरवंशपुर) ने कई हिन्दू किशोरियों को अपने प्रेम जाल में फंसाकर उनकी व उनके पूरे परिवार का जीवन बर्बाद कर दिया है । कई किशोरियों की आपत्तिजनक व अश्लील तस्वीरें सोशल मीडिया पर उनके रिश्तेदारों को भेजता था । जिससे तंग आकर  परिवार के लोगों ने बजरंग दल के जिला मंत्री गौरव सिंह रघुवंशी से संपर्क किया। 
ताजा मामला 17 सितंबर 2020 को संज्ञान में आया है । असद खान नाम की फेसबुक आईडी से एक हिंदू लड़की के साथ बेहद आपत्तिजनक व अश्लील फोटो और एक पन्ने में 30 अन्य हिंदू लड़कियों का मोबाइल नंबर फेसबुक पर डाला गया था ।
मामले को गंभीरता से देखते हुए आजमगढ़ के बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने साइबर सेल में इसकी तुरंत शिकायत की इसके तुरंत बाद असद खान ने अपना फेसबुक आईडी डीएक्टिवेट कर दिया । इसके बाद जब बजरंग दल के लोगों ने उक्त युवक की जांच पड़ताल करनी शुरू की तो असली नाम सलीम खान निकल कर सामने आया। 
इसके अलावा बजरंग दल ने सलीम खान नाम के युवक पर यह भी आरोप लगाया कि सलीम खान विभिन्न हिंदू नामों से फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर हिंदू लड़कियों को अपने प्रेम जाल में फेसबुक के माध्यम से फंसाता है उसके बाद सोशल मीडिया से ही उनका व्हाट्सएप नंबर मांगता है ।
 बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने सलीम खान पर यह भी आरोप लगाया यह लव जिहाद के गिरोह का सदस्य भी है और आजमगढ़ में लव जिहाद एक संगठित गिरोह की तरह संचालित किया जा रहा है । सलीम खान को पकड़कर की 20 सितंबर 2020 की सुबह रोडवेज स्थित उसके आवास से बचाने में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने सिधारी पुलिस थाने में सौंप दिया है।
बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का यह भी आरोप है कि इसके तार कई प्रतिबंधित संगठनों से भी जुड़े हो सकते हैं। उक्त युवक जब पकड़ में आया तो इसकी हाथों में हिंदू कलावा ,रक्षा व शंकर भगवान का ब्रेसलेट भी बधा हुआ था ।
बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का कहना है कि इस प्रकार की घटनाएं आजमगढ़ में निरंतर बढ़ती जा रही है जो काफी भयावह है । ऐसा लग रहा है जैसे कश्मीर की तरह आजमगढ़ की डेमोग्राफी को बदलने की कोई साजिश चल रही है।
श्री गौरव सिंह रघुवंशी ने मुख्यमंत्री व जिलाधिकारी के नाम का पत्रक सौंपते हुए यह भी मांग किया कि उक्त युवक के ऊपर आवश्यक कार्रवाई करते हुए इसकी उच्च स्तरीय जांच कराकर लव जिहाद के गिरोह का पर्दाफाश होना चाहिए। जो भी फंडिंग कर रहा है उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए । 
आज़मगढ़ में लव जिहाद के बढ़ते मामलों को देखते हुए पुलिस अधिक्षक ने इस मामले का कमान संभालते हुए एक टीम का गठन कर दिया है । पुलिस इस बात का भी पता लगाएगी की लव जिहाद फैलाने के लिए इस केस में बाहर से फंडिंग तो नहीं कि जा रही है ।
पत्रक सौंपने वालों में रंजीत वर्मा ,सुरेंद्र राजभर,गजेंद्र सिंह,मिथुन निसाद ,अभी निषाद, शशांक तिवारी ,लालमन चौहान, अभिषेक गुप्ता ,राजू गुप्ता, गौरव गुप्ता, मकरध्वज यादव, किशन मोदनवाल आदि उपस्थित रहे ।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या