भारी बारिश में ठप्प हो जाता है मड़ावरा-हँसरी सम्पर्क मार्ग

बरघाट रोहणी नदी रपटा में पानी बढ़ने से कई घंटों के लिए ठप्प हो जाता है यातायात

 

* ग्रामीणों ने शासन प्रशासन से पुल बनवाए जाने की मांग उठाई


 

ललितपुर।

जनपद ललितपुर के विकास खण्ड मड़ावरा अंतर्गत ग्राम रनगांव-हँसरी सम्पर्क मार्ग के मध्य बरघाट  रोहणी नदी रपटा पर बरसात का पानी रपटा के ऊपर से निकलने से कई-कई घंटों के लिए मार्ग में यातायात ठप्प हो जाता है। इस मार्ग से लगभग डेढ़ दर्जन गांवों के ग्रामीणों का आवागमन प्रतिदिन होता है। किन्तु बारिश से जब भी बरघाट में पानी बढ़ जाता है उस समय आवागमन पूरी तर्ज से ठप्प हो जाता है। पानी कम होने के इंतजार में लोग घण्टों इंतजार करते नजर आते हैं। इस समस्या से आसपास के गांवों के लोग कई वर्षों से परेशान हैं। 

 

उल्लेखनीय है कि मड़ावरा ब्लॉक एवं तहसील मुख्यालय है। ब्लॉक क्षेत्र के ग्राम हँसरी, सिरोंन, लिधौरा, पिसनारी, धौरीसागर, टौरी, सेमलखेड़ा, टपरियन, , बड़वार, गर्रोमाफ, बमौरीखुर्द, हिलगन, श्यामपुरा, हँसरा, गंगचारी आदि गांवों से ग्रामीण अपने जरूरी कामकाज के लिए मड़ावरा आना जाना रहता है। बरसात के दिनों में बरघाट रोहाणी नदी रपटा में पानी बढ़ने से उपरोक्त गांवों के ग्रामीणों का आवागमन कई कई घंटों के लिए ठप्प हो जाता है। कई वर्षों से ग्रामीण इस समस्या से जूझ रहें हैं किन्तु अभी तक समस्या का समाधान नहीं हो सका है। ग्रामीणों ने शासन प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए बरघाट रपटा पर पुल बनवाये जाने की मांग की है। 

ग्राम हँसरी निवासी गिन्नी राजा कहते हैं कि  बरसात के दिनों में बरघाट रोहाणी नदी पर पानी बढ़ने से आवागमन पूरी तरह से बंद हो जाता है जिससे लोग मड़ावरा जरूरी कार्यों के लिए नहीं जा पाते हैं। घण्टो लोग पानी के कम होने के इंतजार में बैठे रहते हैं।क्षेत्र के लोग इस समस्या से बहुत परेशान हैं। ग्राम गंगचारी निवासी शीतल यादव निवासी शीतल यादव कहते हैं कि खासकर बरसात के दिनों में इस मार्ग से आवागमन में बहुत दिक्कत होती है। चूँकि बरघाट रपटा काफी नीचे है जिसके कारण भारी बारिश में पानी बढ़ने के साथ ही रपटा में भी पानी उफान पर आ जाता है और ग्रामीण क्षेत्र के लोगों का मड़ावरा से पूर्णतः संपर्क कट जाता है। लोग जरूरी से जरूरी काम के लिए भी नहीं जा पाते हैं अपने आपको असहाय महसूस करते हैं।   ग्राम हँसरा निवासी सजन सिंह कहते हैं कि वर्ष भर पानी की कमी न हो इसके लिए अच्छी बारिश का होना भी जरूरी है किन्तु बारिश के कारण जहां पर आवागमन बाधित होता है वहाँ पर ऊंचे पुल बनना बहुत जरूरी है। बदलते समय के साथ विकास भी जरूरी है। हम जिलाधिकारी महोदय से अपेक्षा करते हैं कि वह समस्या के समाधान के लिए जरूर कोई न कोई ठोस कदम उठाएंगें। 

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या