एम0एस0पी0 के तहत धान क्रय की कार्यवाही सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के लिए सभी प्रबन्ध समय से सुनिश्चित किए जाएं

लखनऊ: 26 सितम्बर, 2020

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने प्रदेश में पिछले एक सप्ताह में कोविड-19 की पाॅजिटिविटी की दर में आई उल्लेखनीय कमी पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि यह एक अच्छा संकेत है, जो सिद्ध करता है कि संक्रमण को नियंत्रित करने में प्रदेश सरकार की रणनीति कारगर सिद्ध हो रही है।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में टीम भावना के साथ प्रभावी कार्यवाही किए जाने पर बल देते हुए कहा है कि बेहतर समन्वय से इस महामारी के प्रकोप को नियंत्रित किया जा सकता है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान में टेस्टिंग कार्य काफी अच्छे ढंग से किया जा रहा है। इस कार्य को आगे भी इसी प्रकार जारी रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड अस्पतालों में मैन पावर की कोई कमी न हो। सभी चिकित्सालयों में आॅक्सीजन की सुचारु उपलब्धता बैकअप सहित सुनिश्चित की जाए। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य जिला चिकित्सालयों, सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में तथा अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा मेडिकल काॅलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों में दवाओं एवं अन्य आवश्यक मेडिकल सामग्री की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखें।
मुख्यमंत्री जी ने जनपद लखनऊ में विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश देते हुए कहा कि जिले के नोडल अधिकारी अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य तथा अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा से विचार-विमर्श कर जिले में संक्रमण को नियंत्रित करने का एक अच्छा माॅडल प्रस्तुत करें।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश को 16 जनपदों में संक्रमण को प्रभावी रूप से नियंत्रित करने के लिए शासन द्वारा अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव स्तर के नोडल अधिकारियों की तैनाती की गई है। उन्होंने चिकित्सा शिक्षा मंत्री से अपेक्षा की कि वे जनपद लखनऊ सहित समस्त 16 जिलों के नोडल अधिकारियों से संवाद बनाकर उन्हें आवश्यक मार्गदर्शन तथा दिशा-निर्देश प्रदान करें।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि एम0एस0पी0 के तहत धान क्रय की कार्यवाही सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करने के लिए सभी प्रबन्ध समय से सुनिश्चित किए जाएं। आवश्यकतानुसार धान क्रय केन्द्रों की संख्या में वृद्धि की कार्यवाही की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि किसानों को धान खरीद के सम्बन्ध में सभी सुविधाएं उपलब्ध हों।
इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


--------

 


-- 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या