मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के लिए आई0सी0यू0 के बेड्स बढ़ाए जाने के निर्देश दिए

अस्पतालों में दवाई और आॅक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए

 

जनपद प्रयागराज, कानपुर नगर, लखनऊ और गोरखपुर 

में विशेष सतर्कता अपनाए जाने की आवश्यकता

 

काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग पर जोर दिया जाए

 

इंटीगे्रटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर की सेवाओं 

को और बेहतर बनाते हुए संचालित किया जाए

 

पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से कोविड-19 तथा यातायात के नियमों 

के सम्बन्ध में लोगों को व्यापक रूप से जागरूक किए जाने के निर्देश

 

कोविड संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए 

सतर्कता, बचाव व जागरूकता जरूरी

 

धान की खरीद के दृष्टिगत सभी तैयारियां समय से सुनिश्चित कर ली जाएं

 

धान क्रय के सम्बन्ध में राइस मिलर्स के साथ बैठक किए जाने के निर्देश 

 

मुख्यमंत्री ने एकीकृत कोविड-19 पोर्टल एप्लीकेशन  लाॅन्च किया

 

वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण के दौरान 

प्रदेशवासियों को इस सुविधा से लाभ मिलेगा

 

कोविड-19 के परिणामों की जानकारी सर्वसुलभ कराने की सुविधा होगी

 

जनसाधारण के लिए अत्यन्त उपयोगी होगा तथा 

लोगों के जांच के उपरान्त परिणाम शीघ्र मिलेगा

 

लखनऊ: 20 सितम्बर, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड-19 के लिए आई0सी0यू0 के बेड्स बढ़ाए जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में दवाई और आॅक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। जनपद प्रयागराज, कानपुर नगर, लखनऊ और गोरखपुर में विशेष सतर्कता अपनाए जाने की आवश्यकता है। इन जनपदों में काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग पर जोर दिया जाए।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इंटीगे्रटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर की कोविड संक्रमण के प्रसार को रोकने तथा इससे बचाव व उपचार में महत्वपूर्ण भूमिका है। सभी जनपदों में इनकी सेवाओं को और बेहतर बनाते हुए संचालित किया जाए। उन्होंने इसके लिए मुख्य सचिव को समन्वय किए जाने निर्देश दिए। 

मुख्यमंत्री जी ने पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से कोविड-19 तथा यातायात के नियमों के सम्बन्ध में लोगों को व्यापक रूप से जागरूक किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सतर्कता, बचाव व जागरूकता जरूरी है। इसके लिए प्रमुख स्थानों और चैराहों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम निरन्तर एक्टिव मोड में रहें।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि धान की खरीद 01 अक्टूबर, 2020 से होनी है। इसके दृष्टिगत सभी तैयारियां सुनिश्चित कर ली जाएं। धान क्रय केन्द्र सुचारु रूप से संचालित किए जाएं। यह देखा जाए कि किसानों को कोई परेशानी न हो। उन्होंने धान क्रय के सम्बन्ध में राइस मिलर्स के साथ बैठक किए जाने के निर्देश कृषि उत्पादन आयुक्त को दिए।

इसके पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने एकीकृत कोविड-19 पोर्टल एप्लीकेशन (Unified COVID-19 Application) labreports.upcovid19tracks.in लाॅन्च किया। उन्होंने इस एप के शुभारम्भ पर कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण के दौरान प्रदेशवासियों को इस सुविधा से लाभ मिलेगा। इससे कोविड-19 के परिणामों की जानकारी सर्वसुलभ कराने की सुविधा होगी। यह जनसाधारण के लिए अत्यन्त उपयोगी होगा तथा लोगों की जांच के उपरान्त परिणाम शीघ्र मिलेगा।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि इस पोर्टल के माध्यम से ऐसी व्यवस्था विकसित की गई है कि टेस्ट करवाने वाला व्यक्ति अपने रजिस्टर्ड मोबाइल फोन नम्बर पर ओ0टी0पी0 प्राप्त करके अपने कोविड-19 टेस्ट के परिणाम को स्वयं देख सकेगा तथा इसे डाउनलोड भी कर सकेगा। यह एप कोविड वायरस संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सरकारी संस्थानों को सहयोग एवं चिकित्सा के लिए लोगों की मदद करने में सहायक होगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव ही उसका उपचार है। इस एप के माध्यम से जो सुविधाएं दी जा रही हैं, वह सराहनीय हंै। उन्होंने इस एप को लाॅन्च किए जाने पर धन्यवाद दिया। 

इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश खन्ना, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव वित्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव पंचायती राज एवं ग्राम्य विकास श्री मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री श्री संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या