न योजना अभियान में ग्रामवासियों से अधिक से अधिक संख्या में प्रतिभाग करे और ग्राम पंचायत के विकास में भागीदार बनें- श्रीमती किंजल सिंह


लखनऊ: 15 सितंबर 2020

निदेशक पंचायतीराज उ0प्र0 श्रीमती किंजल सिंह ने बताया कि पंचायती राज मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2021-22 की वार्षिक कार्ययोजना/ग्राम पंचायत विकास योजना(जी.पी.डी.पी.) को तैयार करने हेतु 02 अक्तूबर, 2020 से 31 जनवरी, 2021 के मध्य जन योजना अभियान का संचालन किया जा रहा है, जिससे कि समेकित विकास हेतु ग्राम पंचायतों द्वारा अपने विकास की कार्ययोजना/जी.पी.डी.पी. को समय तैयार किया जा सके।
श्रीमती सिंह ने बताया कि अभियान के सफल आयोजन तथा सभी विभागों की भागीदारी सुनिश्चित करने हेतु शासन स्तर से निर्देश निर्गत किए जा चुके है। अभियान अन्तर्गत विभिन्न गतिविधियाॅ आयोजित की जानी हैं जो इस प्रकार हैं- प्रचार-प्रसार एवं जन-जागरूकता अभियान के माध्यम से वातावरण निर्माण, प्रत्येक ग्राम पंचायत में ग्राम्य विकास विभाग द्वारा ‘मिशन अंत्योदय’ सर्वेक्षण को सितम्बर, 2020 तक पूर्ण किया जाना एवं संरचनात्मक, आर्थिक एवं मानव विकास के सूचकांकों के आधार पर रैकिंग कर परिणामों को ग्राम सभा में रखते हुए प्रभावी कार्यवाही किया जाना, निर्धारित समय-सारिणी के अनुसार ग्राम सभा की न्यूनतम दो बैठकों का आयोजन, ग्राम सभा की बैठक में विभिन्न विभागों के ग्राम स्तरीय कार्यकर्ताओं की अनिवार्य उपस्थिति एवं उसमें रोस्टर के अनुसार खण्ड/जनपद स्तर के अधिकारियों की उपस्थिति, कोविड महामारी को ध्यान में रखते हुए मास्क की सहायता से चेहरे को ढक कर बैठक में प्रतिभाग करना व सामाजिक दूरी का पालन करना। आवष्यकतानुसार छोटी वार्ड सभा, महिला सभा  आयोजित कर उनके विचार आमन्त्रित करना है।  
श्रीमती सिंह ने ग्राम पंचायतों में संचालित होने वाले जन योजना अभियान में ग्रामवासियों से अपेक्षा की है कि वे अधिक से अधिक संख्या में प्रतिभाग करे और ग्राम पंचायत के विकास में भागीदार बनें।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या