नाबार्ड वित्त पोषित आरआईडीएफ योजना के तहत 16 जनपदों के 19 मार्गों के चैड़ीकरण हेतु रू० 64 करोड़ 66 लाख 31 हजार की धनराशि की गई अवमुक्त

लखनऊः 27 सितंबर 2020
उत्तर प्रदेश शासन द्वारा नाबार्ड वित्त पोषित आरआईडीएफ योजना के अंतर्गत 16 जनपदों के ग्रामीण क्षेत्रों में 19 प्रमुख/अन्य जिला मार्ग के चैड़ीकरण एवं
सुदृढ़ीकरण के चालू कार्यों हेतु रु० 64 करोड़ 66 लाख 31 हजार की धनराशि अवमुक्त की गई है। इस संबंध में आवश्यक शासनादेश लोक निर्माण अनुभाग-9 द्वारा जारी कर दिया गया है। इन 16 जनपदों में रामपुर, बलरामपुर, बस्ती व गोरखपुर में 2-2 मार्गों का तथा अयोध्या, कुशीनगर, सिद्धार्थ नगर, कानपुर नगर, औरैया, हरदोई, मिर्जापुर, आगरा, श्रावस्ती, मेरठ व बागपत में 1-1 मार्ग का चैड़ीकरण इस योजना के तहत किया जा रहा है।
राज्य सड़क निधि के तहत विभिन्न जनपदों के 16 मार्गों  हेतु रु० 19 करोड़ 84 लाख 5 हजार की धनराशि उत्तर प्रदेश शासन द्वारा अवमुक्त की गई है, इसमें से रु० 16 करोड़ 1 लाख 79 हजार की धनराशि चालू कार्यो हेतु तथा रू० 3 करोड़ 82 लाख 26 हजार की धनराशि नवीन कार्य के लिए अवमुक्त की गयी है।
7 चालू कार्यों में पांच कार्य बस्ती में तथा 1-1 कार्य सिद्धार्थनगर व प्रयागराज के हैं और नवीन कार्यों में प्रयागराज के 2 प्रतापगढ़ के 3 तथा कौशांबी, फतेहपुर, भदोही व सुल्तानपुर के 1-1 कार्य हैं ।
उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि सभी कार्यों को निर्धारित मानकों के अनुरूप, गुणवत्तापरक ढंग से निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत अनिवार्य रूप से पूरा किया जाए। उन्होंने कहा है कि कार्यों में लापरवाही या हीलाहवाली किसी भी स्तर पर  क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि संबंधित अधिकारी कार्यों का लगातार निरीक्षण करते रहें तथा गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या