निजीकरण से आर्थिक गुलामी की ओर बढ़ रहा देश : तिलक यादव

केन्द्र व प्रदेश सरकार की गलत नीतियों से बदहाल हुये आमजन



शिक्षित युवा बेरोजगार व किसान विरोधी नीतियों से प्रताडि़त हुआ प्रदेश




ललितपुर। समाजवादी पार्टी के सेक्टर व बूथ प्रभारियों की एक आवश्यक बैठक का आयोजन सिद्धक्षेत्र राखपंचमपुर में सामुदायिक भवन परिसर में किया गया। बैठक में मुख्य अतिथि के रूप में सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. मौजूद रहे। विशिष्ट अतिथि पूर्व विधायक रमेश कुशवाहा व पूर्व विधायक फेरनलाल अहिरवार मौजूद रहे। बैठक की अध्यक्षता ब्लाक जखौरा अध्यक्ष प्रभूदयाल राजपूत ने व सफल संचालन जिला महासचिव कृष्ण स्वरूप निरंजन ने किया।
 मुख्य अतिथि सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव एड. ने कहा कि वर्तमान में शिक्षित युवाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त नहीं हो पा रहे हैं, जिससे शिक्षित युवा बेरोजगार घूम रहा है। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था ध्वस्त है, जिसके चलते अपराधों में जमकर इजाफा हो रहा है। किसानों की आय दोगुना करने के बजाय नया कृषि अध्यादेश पारित करते हुये केन्द्र सरकार द्वारा किसानों की उपज को निजी कम्पनियों के हाथों गिरवी रखने का कार्य किया है। साल भर मेहनत करने के बाद किसान प्राईवेट सेक्टर पर निर्भर हो जायेगा। उन्होंने कहा कि यह काला कानून भविष्य में किसानों की आय को दोगुना करने के बजाय आय के स्रोत समाप्त करने का कार्य करेगा। इसके अलावा रेलवे, बीएसएनएल और कई सरकारी कम्पनियों का निजीकरण किया जा रहा है, जिससे लोगों को रोजगार का अभाव होगा और निजीकरण के चलते प्राईवेट कम्पनियों पर निर्भर होकर भारत आर्थिक गुलामी में जकड़ जायेगा। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वह समाजवादी पार्टी में जुड़कर सरकार की गलत नीतियों का विरोध करें। इसके अलावा उन्होंने बूथ व सेक्टर प्रभारियों से अपने-अपने क्षेत्र में कार्यकर्ताओं को मजबूती से जुटने का आह्वान किया। इस दौरान पूर्व जिलाध्यक्ष ज्योति सिंह लोधी, फूलसिंह नन्ना, रमेश सिंह ने भी संबोधित करते हुये पार्टी हित में कार्य करने व आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को विजयी बनाने का आहवान किया। बैठक के दौरान विधानसभा प्रभारी स्वामी प्रसाद एड. ने सेक्टर एवं बूथ प्रभारियों की समीक्षा आख्या प्रस्तुत की। बैठक में अनिल अडज़रिया, अमर सिंह, जगदीश कंचन, नरेन्द्र कुशवाहा, रौशन सिंह, धनीराम रजक, विजय सिंह, मानसिंह, नैपाल सिंह, रामदास श्रोतीय, धर्मेंद्र कुशवाहा, शेर सिंह बार, लक्ष्मीनारायण विश्वकर्मा, अशोक अहिरवार, करन पाल, गोविन्द बानौली, विन्द्रावन, जयपाल सिंह, अंकित यादव नौहरखुर्द, लाखन प्रधान, अरविंद, अजय, राजकुमार, रहीश सिंह, शंकर, गुल्लू, भान सिंह, दीपक प्रधान, सुरेन्द्र पाल सिंह, पुष्पेन्द्र, शिशुपाल आलापुर, महेश कुशवाहा, हनुमत कुशवाहा, शिवचरन, करतारसिंह लोधी, आशाराम रैकवार, रूप सिंह वेदोरा, राजकुमार, नोनेराजा सहित अनेकों सपाई मौजूद रहे।
समाजवादी पार्टी में शामिल
बैठक के दौरान समाजवादी पार्टी की विचारधारा से प्रभावित होकर शिशुपाल कुशवाहा रघुनाथपुरा, रोहित पाल मिर्चवारा, कार्ति प्रजापति गौना, रावेन्द्र कुशवाहा खजरा आदि ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।



इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या