<no title>उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद् के अधीन संचालित विद्यालयों में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् की पाठ्य पुस्तकों को लागू किये जाने का निर्णय

 लखनऊ: 01 सितम्बर, 2020

उत्तर प्रदेश  के बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वन्तत्र प्रभार ) डा0 सतीश चन्द्र द्धिवेदी ने बताया कि राष्ट्रीय स्तर पर पाठ्यक्रमों में एकीकरण लाने के उद्देश्य से माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा परिषद् के आधीन संचालित विद्यालयों में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद् की पाठ्य पुस्तकों को अगले सत्र से लागू करने का निर्णय किया गया है। उन्होंने बताया कि शैक्षिक सत्र 2021 - 2022 में कक्षा 1 की  व  शैक्षिक सत्र 2022 - 2023 में कक्षा 2, 3 की पुस्तकों में लागू  किया जायेगा और  शैक्षिक सत्र 2023- 2024 में कक्षा 4, 5 में तथा शैक्षिक सत्र 2024 - 2025 में कक्षा 6,7,8 में लागू  किया जायेगा।

डा0 द्विवेदी ने कहा कि  उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषद के अधीन संचालित विद्यालयों में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद की पाठ्य पुस्तकों को लागू किये जाने से  निश्चय ही छात्रों के उज्जवल भविष्य के निर्माण एवं व्यवसायिक शिक्षा, कुशलता में सहायता मिलेगी।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या