स्मार्ट क्लास लगने से बच्चों को शिक्षा ग्रहण करने की बढ़ेगी रोचकता: जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी

शासन मंशानुरूप की मंशानुरूप बच्चों को विद्यालयों में दी जाये गणवेश

 

* बच्चों को मिली गणवेश, खुशी से खिले चेहरे

 

* नवीन प्रवेश हेतु अभिभावकों को किया जाये जागरूक

 

ललितपुर।

जनपद ललितपुर के विकास खण्ड मड़ावरा अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय गौना (अंग्रेजी माध्यम) में स्मार्ट क्लास एवं गणवेश कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रामप्रवेश रहे तथा अध्यक्षता खण्ड शिक्षा अधिकारी मड़ावरा रामगोपाल वर्मा ने की। प्राथमिक विद्यालय गौना (अंग्रेजी माध्यम) में स्मार्ट क्लास एवं गणवेश वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राम प्रवेश एवं खण्ड शिक्षा अधिकारी मड़ावरा रामगोपाल वर्मा ने संयुक्त रूप से किया। स्मार्ट क्लास का शुभारंभ करने के बाद जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राम प्रवेश ने संबोधित करते हुए कहा कि शासन की मंशानुरूप परिषदीय विद्यालय में स्मार्ट क्लास शुरू हो रहीं हैं यह बहुत अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट क्लास शुरू होने से बच्चों में पढ़ाई के प्रति रुचि बढ़ेगी। बच्चे विभिन्न माध्यमों से अच्छी शिक्षा ग्रहण कर आगे बढेंगे। खेल विभिन्न माध्यमों के साथ ही ऑनलाइन क्लासेज व कहानियों के माध्यम से बच्चे रोचकता के साथ अच्छी शिक्षा ग्रहण करेंगें। बच्चों को गणवेश वितरण करते हुए जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राम प्रवेश ने कहा कि शासन कि मंशानुरूप विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण गणवेश वितरण किया जाये। शिक्षक गणवेश की गुणवत्ता से कोई समझौता न करें। यदि विद्यार्थियों को विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण गणवेश वितरण किया गया तो संबंधित के खिलाफ सख्त विभागीय कार्यवाही की जाएगी। 

कार्यक्रम में खण्ड शिक्षा अधिकारी मड़ावरा रामगोपाल वर्मा ने कहा कि विकास खण्ड मड़ावरा के परिषदीय विद्यालय की स्थिति में काफी सुधार हुआ है। विद्यालयों में कायाकल्प योजना अंतगर्त काफी विद्यालयों में ग्राम प्रधानों के काफी अच्छा कार्य कराया गया है जिससे विद्यालयों का परिदृश्य बदला है। कायाकल्प योजना अंतर्गत विद्यालयों में अच्छा कार्य कराने वाले ग्राम प्रधान बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि ब्लॉक के विद्यालयों में स्वयं सहायता समूहों के द्वारा बच्चों को गणवेश तैयार कर दी जा रही है। बच्चों को दी जा रही गणवेश की गुणवत्ता ठीक है। यदि कहीं पर लापरवाही की जानकारी मिलती है तो कार्यवाही की जाएगी। स्मार्ट क्लास लगने से बच्चों में छिपी प्रतिभाओं का विकास होगा। बच्चों को पढ़ाई के नए तरीके सीखने को मिलेंगें। पढ़ने के प्रति बच्चों की रूचि बढ़ेगी। इस दौरान विद्यालय का समस्त स्टाफ उपस्थित रहा। 


 

 

 

 

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या