योगी आदित्यनाथ आपके शासन में न्याय नहीं, सिर्फ अन्याय का बोलबाला हैः प्रियंका गांधी

दलित बालिका के साथ दरिन्दगी पर योगी सहित महिला राज्यपाल की खामोशी क्यों, चुप्पी का राज क्या हैः अजय कुमार लल्लू


लखनऊ 30 सितम्बर 2020।
उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी ने हाथरस की दलित बेटी के साथ गैंगरेप और हत्या तथा परिजनों की गैर मौजूदगी में पुलिस द्वारा शव को आधी रात जलाये जाने पर दलित बेटी को न्याय दिलाने के लिए प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन के तहत आज राजधानी में सीएम आवास का घेराव करने जा रहे उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू सहित सैंकड़ो कार्यकर्ताओं पर बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज करते हुए पुलिस ने वीवीआईपी गेस्ट हाउस के सामने अलोकतांत्रिक तरीके से गिरफ्तार कर लिया, जहां से प्रदेश अध्यक्ष सहित सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को इको गार्डेन भेज दिया गया। 



कांग्रेस महासचिव ने ट्विीट करते हुए कहा है कि - रात को 2.30बजे परिजन गिड़गिड़ाते रहे लेकिन हाथरस की पीड़िता के शव को उ0प्र0 प्रशासन ने जबरन जला दिया। जब वह जीवित थी तब सरकार ने उसे सुरक्षा नहीं दी। जब उस पर हमला हुआ सरकार ने समय पर इलाज नहीं दिया। पीड़िता की मृत्यु के बाद सरकार ने परिजनों से बेटी के अंतिम संस्कार का अधिकार छीना और मृतका को सम्मान तक नहीं दिया। घोर अमानवीयता। आपने अपराध रोका नहीं बल्कि अपराधियों की तरह व्यवहार किया। अत्याचार रोका नहीं, एक मासूम बच्ची और उसके परिवार पर दुगुना अत्याचार किया। येागी आदित्यनाथ इस्तीफा दो। आपके शासन में न्याय नहीं, सिर्फ अन्याय का बोलबाला है।


इसके पूर्व अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी जी ने ट्विीट करके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सवाल किया। उन्होने कहा कि - ‘‘मैं यूपी के मुख्यमंत्री से कुछ सवाल पूछना चाहती हूं -परिजनों से जबर्दस्ती छीनकर पीड़िता के शव को जलवा देने का आदेश किसने दिया? पिछले 14 दिन से कहां सोए हुए थे आप? क्यों हरकत में नहीं आए? और कब तक चलेगा ये सब? कैसे मुख्यमंत्री हैं आप’’।


प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने कहा कि भाजपा के लिए बहुत ही शर्मनाक है कि एक दलित की बेटी न्याय की आस लिए मर गई। महामहिम चुप क्यों हैं उनकी चुप्पी का राज क्या है, महिला होने के नाते अभी तक उनका एक भी बयान क्यों नहीं आया। प्रधानमंत्री और गृहमंत्री सहित प्रदेश के मुखिया की चुप्पी का राज क्या है? कौन जवाब देगा देश को, देश रो रहा है, बिलख रहा है। देश की बेटी सुरक्षित नहीं हैं, क्या इसी तरह की घटनाएं निरन्तर उ0प्र0 में होती रहेंगी और सरकार संवेदनहीन बनी रहेगी। आज हम मुख्यमंत्री से इस्तीफा मांगने जा रहे थे मुख्यमंत्री के गुर्गों द्वारा लाठी-डण्डों से हमें पीटा गया और गिरफ्तार किया गया। क्या न्याय मांगने वालों पर लाठी चलाई जाएगी। क्या पीड़ित बहन के लिए संघर्ष की बात करने पर लाठी चलाकर दमन किया जाएगा। उन्होने कहा कि योगी सरकार ने इन्सानियत को शर्मसार किया है। मुख्यमंत्री गद्दी छोड़ो, आपको इस पर बैठने का कोई अधिकार नहीं रह गया है। 


प्रदेशव्यापी आन्दोलन के तहत आज हाथरस में कांग्रेस ने सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया। जनपद प्रतापगढ़ में कांग्रेस नेताओं को प्रदर्शन के दौरान लाठीचार्ज करके गिरफ्तार किया गया। वहीं हाथरस जाते हुए बदायूं हाईवे पर कांग्रेस महासचिव ब्रम्हस्वरूप सागर, असलम चैधरी सहित कई नेताओं को गिरफ्तार किया गया। जनपद जालौन, सोनभद्र, चित्रकूट, आजमगढ़, भदोही, चन्दौली समेत कई जिलों मंे प्रदर्शन हुआ, कांग्रेसजनों पर पुलिस ने बर्बर लाठीचार्ज कर गिरफ्तार किया। वहीं प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कंाग्रेस ने बड़े पैमाने पर जुलूस निकालकर संसदीय कार्यालय का घेराव किया जिस पर भारी पुलिस ने लाठीचार्ज कर गिरफ्तार किया।
राजधानी में आज सीएम आवास का घेराव करने जा रहे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू जी सहित कांग्रेसजनों पर हुए बर्बर लाठीचार्ज में श्री अजय श्रीवास्तव अज्जू, एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष श्री अनस रहमान, पिछड़ा वर्ग के चेयरमैन श्री मनोज यादव, संगठन मंत्री श्री अनिल यादव, मीडिया संयोजक श्री ललन कुमार को गंभीर चोटें आयीं। गिरफ्तार होने वालों में प्रमुख रूप से पूर्व विधायक श्री श्यामकिशोर शुक्ला, प्रदेश सचिव श्री रमेश शुक्ला, अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन श्री शाहनवाज आलम, श्री तरूण पटेल, श्री हरेराम मिश्र, जिलाध्यक्ष श्री वेद प्रकाश त्रिपाठी, शहर अध्यक्ष श्री मुकेश सिंह चैहान, श्री शिव पाण्डेय, श्री दिलप्रीत सिंह ‘डीपी’, श्री विशाल राजपूत, श्री शिवम त्रिपाठी, श्री ज्ञानेश शुक्ला, मो0 तारिक सिद्दीकी, मुशर्रफ इमाम, विकास सक्सेना, हाशिम अली, रंजीत भारती आदि भारी संख्या में कांग्रेसजन शामिल रहे। 


वहीं दूसरी ओर सायं युवा कांगे्रस के अध्यक्ष श्री कनिष्क पाण्डेय के नेतृत्व में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विधानसभा के सामने विरोध प्रदर्शन किया। भारी पुलिस बल ने युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर बर्बर लाठी चार्ज कर गिरफ्तार कर लिया। लाठीचार्ज में कई कार्यकर्ताओं के कपड़े फट गये व हाथ-पैर टूट गये। लाठीचार्ज में घायल एवं गिरफ्तार होने वालों में श्री कनिष्ठ पाण्डेय के अलावा श्री शिवम त्रिपाठी, श्री ज्ञानेश शुक्ला, श्री नितिन शुक्ला, श्री अवनीश शुक्ला, श्री खुर्शीद खान, श्री राहुल अवस्थी, श्री रोहित अवस्थी, मो0 तलहा, श्री अजीत सिंह, श्री संदीप पाल धनगर, सै0 इमरान, श्री आशीष मिश्रा, श्री सुधांशु बाजपेयी, श्री लालू कनौजिया, श्री हसन मेंहदी, श्री आदित्य सिंह सहित कई युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता शामिल रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सबसे बड़ा वेद कौन-सा है ?

कर्नाटक में विगत दिनों हुयी जघन्य जैन आचार्य हत्या पर,देश के नेताओं से आव्हान,