यूपी के कई ज़िलों में सपाई सड़कों पर,सरकार के खिलाफ जबरदस्त धरना प्रदर्शन।

 


    लखनऊ, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के निर्देश पर आज (21 सितम्बर 2020) सभी जनदों में तहसील स्तर पर समाजवादी कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन करते हुए महामहिम राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा। तहसील मुख्यालय जाते हुए समाजवादी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने कई स्थानों पर रोकेन की कोशिश कीउनसे झड़पें हुई। पुलिस ने कन्नौजफरेंदा (महाराजगंजतथा बांदा में प्रदर्शन कर रहे शांतिपूर्ण समाजवादी कार्यकर्ताओं पर अकारण लाठीचार्ज किया। लखनऊ में वंदना चतुर्वेदीअशोक गुप्ता सहित दर्जन भर कार्यकर्ताओं तथा बांदा में श्री विजय करन यादव जिलाध्यक्ष तथा नगर अध्यक्ष श्री मोहन साहू सहित लगभग चार दर्जन कार्यकर्ताओंनेताओं की गिरफ्तारी की गई है।
    
ज्ञापन में कोरोना संकट काल में आवश्यक उपकरणों की खरीद में घोटालास्वास्थ्य सेवाओं में अनियमितताभ्रष्टाचारसरकारी उत्पीड़न में वृद्धिबेहाल किसानबेरोजगारी और ध्वस्त कानून व्यवस्था के मुद्दे उठाते हुए राज्यपाल महोदया से संवैधानिक कार्यवाही करने का आग्रह किया गया है। प्रदेश भर में आज समाजवादी पार्टी के प्रदर्शन की गूँज रही।
     
विभिन्न जनपदों में आज हजारों की संख्या में एकत्र होकर समाजवादी कार्यकर्ताओं ने सरकारी मनमानीध्वस्त कानून व्यवस्थाबढ़ती मंहगाई और बेरोजगारीलाॅकडाउन के दौरान आए श्रमिकों को रोजगार नहीं मिलनेकिसानों की बदहालीनौजवानों की उपेक्षानिजीकरणआरक्षण समाप्ति की साजिशमहिलाओं-बच्चियों से बढ़ती दुष्कर्म की घटनाओं तथा बदले की भावना से समाजवादी नेताओं पर फर्जी केस लगानेगिरफ्तारी करने के प्रति विरोध व्यक्त किया। राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन में क्षेत्रीय समस्याओं का जिक्र कर उनके निराकरण का भी आग्रह किया गया।
     
आज जहां मेरठ में पूर्व मंत्री श्री शाहिद मंजूर और अमेठी में विधायक राकेश प्रताप सिंह पुलिस द्वारा तहसील मुख्यालय तक जाने से रोकने के विरोध में धरना पर बैठ गए वहीं बाराबंकी में अर्धनग्न होकर भी कई युवाओं ने प्रदर्शन किया। बस्ती में विधायक सिद्धार्थ नाथ सिंह धरना देने बैलगाड़ी में बैठकर पहुंचे। मुरादाबाद में बैलगाड़ियां भी प्रदर्शन में शामिल रही। आगरा के जिलाध्यक्ष श्री रामगोपाल यादव को घर में ही कैद कर दिया गया।
      
राजधानी लखनऊ में आज सभी पांचों तहसीलों सदरमोहनलालगंजसरोजनीनगरबख्शी का तालाबमलिहाबाद में हजारों की संख्या में पहुंचे समाजवादी कार्यकर्ताओं ने धरना-प्रदर्शन के बाद अपना ज्ञापन सौंपा। सदर तहसील में महानगर अध्यक्ष श्री सुशील दीक्षित तथा जिले की चार तहसीलों में प्रदर्षन का नेतृत्व श्री जयसिंह जयंत ने किया। प्रदर्शन में सर्वश्री पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्राअम्बरीश पुष्कर विधायकगोमती यादवइंदल रावतश्याम किशोर यादवमोहम्मद रेहाननईमविजय सिंह यादवअनुराग भदौरियाअनुराग यादवमुजीबुर्रहमान बबलूअनीस राजाअरविन्द गिरिसुश्री पूजा शुक्लाराज बाला रावतसर्वेश यादवदेवेन्द्र यादव जीतूनवीन धवन बंटीविदेष पाल सिंहमहेन्द्र सिंह यादवधीरज श्रीवास्तवअनिल यादववीरेन्द्र प्रताप सिंहशंकरी सिंहशब्बीर खांचंद्रषेखर यादवउमेश वर्माअमरपाल सिंहदिनेश सिंहराम प्रसाद यादव भी शामिल रहे। लखनऊ में बड़ी संख्या में गिरफ्तारियां भी हुईं। आज के कार्यक्रम में महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल रही।
      
आज समाजवादी कार्यकर्ताओं ने पूरे प्रदेश में जबर्दस्त प्रदर्शन कर सरकार को हिलाकर रख दिया। घबड़ाए प्रशासन ने जगह-जगह बेरीकेटिंग लगाकर लाल सैलाब रोकने की असफल कोशिश की लेकिन वे समाजवादियों के जोश को रोक नहीं सके। जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपने के साथ समाजवादी नेताओं ने जनता की मांगों को शीघ्र मानने का आग्रह किया।
       
आज हरदोईसीतापुरगाजीपुरमेरठअयोध्याफिरोजाबादकानपुर शहर , कानपुर देहातप्रयागराजझांसीचित्रकूटकौशाम्बीसिद्धार्थनगरहमीरपुरएटासोनभद्रकन्नौजनोएडाबागपतवाराणसीउन्नावललितपुरगोण्डाअमेठीकासगंजसम्भलबदायूंअम्बेडकरनगरफर्रूखाबादबाराबंकीकुशीनगरसंतकबीरनगरफतेहपुरमुरादाबादइटावादेवरियामहोबामिर्जापुरलखीमपुरखीरीअलीगढ़सुल्तानपुररायबरेलीसहारनपुरमुजफ्फरनगरमथुराप्रतापगढ़बलियाबिजनौरबुलन्दशहरबहराइचफिरोजाबादअमरोहा आदि जनपदों की तहसीलों पर भी समाजवादी बड़ी संख्या में एकत्र हुए और वहां धरना देने के बाद अपना ज्ञापन सौंपा।   


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या