यूपी माइन मित्र पोर्टल के माध्यम से समस्त सेवाओं को किया गया है आॅनलाईन -डाॅ0 रोशन जैकब

लखनऊ, 23 सितम्बर 2020

निदेशक, भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग उ0प्र0, डाॅ0 रोशन जैकब ने बताया कि मुख्यमंत्री जी की मंशा और प्रतिबद्धताओं के अनुरूप खनन सम्बन्धी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये एकल खिड़की की व्यवस्था की गयी है, जिसके तहत यू0पी0 माइन मित्र पोर्टल के माध्यम से समस्त सेवाओं को आॅनलाईन किया गया है। जनता के हित में खनन सेवाओं में पारदर्शिता, सूचिता व स्वच्छता लाने के लिये ‘‘माइन मित्र’’ की स्वीकार्यता बढ़ाने की हर सम्भव प्रयास किये जा रहे हैं और काफी हद तक इसमें सफलता भी हासिल हुयी है।
डाॅ0 जैकब ने बताया कि यू0पी0डेस्को द्वारा नामित डिजिटल परिवर्तन के क्षेत्र में अग्रणी तकनीकी संस्था मार्गसाॅफ्ट टेक्नालाॅजी के साथ मिलकर खनन से सम्बन्धित समस्त आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये एक आसान एकल खिड़की व्यवस्था विकसित की गयी है। व्यवस्था में पारदर्शिता सुनिश्चित करने, त्वरित अनुमोदन एवं यथा आवश्यकता अनुज्ञा पत्र निर्गत करने के उद्देश्य से खनिज सम्बन्धी सभी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये इस व्यवस्था के माध्यम से समान अवसर प्रदान किये जा रहे हैं।
खनन निदेशक ने बताया कि कृषि भूमि के खनन अनुज्ञा पत्र जारी किये जाने, निजी भूमि के उपखनिजों के निस्तारण, भवन/विकास परियोजनाओं हेतु उपखनिजों के निस्तारण, फुटकर उपखनिज विक्रेता पंजीकरण, खनिज भण्डारण, साधारण मिट्टी (100 घन मी0 तक), साधारण मिट्टी (100 घन मी0 से अधिक) एवं विलेख निष्पादन आदि से सम्बन्धित समस्त सेवाएं यू0पी0 माइन मित्र के माध्यम से आॅनलाइन की गयीं हैं और समस्त प्रकार के अनुज्ञा-पत्रों को जारी करने/पंजीकरण किये जाने हेतु समय सीमा भी निर्धारित की गयी है।
डाॅ जैकब ने बताया कि अवैध खनन/परिवहन पर प्रभावी नियंत्रण कर राजस्व वृद्धि हेतु इंटीग्रेटेड माइनिंग सर्विलांस सिस्टम (आई0एम0एस0एस0) के अन्तर्गत भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय स्तर पर यूनीफाईड कमाण्ड सेन्टर स्थापित किया गया है। आई0एम0एस0एस0 के अन्तर्गत खनन क्षेत्रों के जियो-फेन्सिंग, कार्यरत बालू-मोरम की खदानों पर पी0टी0जेड0 कैमरा, खनन क्षेत्र से निकासी स्थल पर खनिजों के वाहनों के मापन हेतु कैमरे युक्त वेट-ब्रिज स्थापित करते हुये कमाण्ड सेन्टर से इंटीग्रेट किया गया है। प्रदेश में 250 वेट-ब्रिज स्थापित किये गये हैं।
उन्होने बताया कि कोविड-19 वैश्विक महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों के मद्देनजर प्रदेश में खनन व्यवसायियों को प्रात्साहित करने, खनन क्षेत्र में अधिक से अधिक रोजगार सृजित करने, आम उपभोक्तओं को सस्ते एवं सुलभ रूप से उपखनिज उपलब्ध कराने के उद्देश्य से खनन विभाग द्वारा उल्लेखनीय कार्य किये गये हैं। अवैध खनन/परिवहन पर प्रभावी अंकुश लगाने हेतु ठोस व कारगर रणनीति बनायी गयी है, जिसके सकारात्मक व सार्थक परिणाम भी हासिल हुये हैं।


 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या