आज का हिन्दू पंचांग

🕉️~ आज का हिन्दू पंचांग ~🕉️
पं० रामजीलाल गौड़ अग्निहोत्री
        🌹सु प्रभात🌹
🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏
⛅ दिनांक 13 अक्टूबर 2020
⛅ दिन - मंगलवार
⛅ विक्रम संवत - 2077 (गुजरात - 2076)
⛅ शक संवत - 1942
⛅ अयन - दक्षिणायन
⛅ ऋतु - शरद
⛅ मास - अधिक अश्विन
⛅ पक्ष - कृष्ण 
⛅ तिथि - एकादशी दोपहर 02:35 तक तत्पश्चात द्वादशी
⛅ नक्षत्र - मघा रात्रि 10:55 तक तत्पश्चात पूर्वाफाल्गुनी
⛅ योग - शुभ शाम 05:43 तक तत्पश्चात शुक्ल
⛅ राहुकाल - शाम 03:20 से शाम 04:48 तक
⛅ सूर्योदय - 06:34 
⛅ सूर्यास्त - 18:14 
⛅ दिशाशूल - उत्तर दिशा में
⛅ व्रत पर्व विवरण - परमा (कामदा) एकादशी
 💥 विशेष - हर एकादशी को श्री विष्णु सहस्रनाम का पाठ करने से घर में सुख शांति बनी रहती है lराम रामेति रामेति । रमे रामे मनोरमे ।। सहस्त्र नाम त तुल्यं । राम नाम वरानने ।।
💥 आज एकादशी के दिन इस मंत्र के पाठ से विष्णु सहस्रनाम के जप के समान पुण्य प्राप्त होता है l
💥 एकादशी के दिन बाल नहीं कटवाने चाहिए।
💥 एकादशी को चावल व साबूदाना खाना वर्जित है | एकादशी को शिम्बी (सेम) ना खाएं अन्यथा पुत्र का नाश होता है।
💥 जो दोनों पक्षों की एकादशियों को आँवले के रस का प्रयोग कर स्नान करते हैं, उनके पाप नष्ट हो जाते हैं।
          ✳️~ हिन्दू पंचांग ~✳️


🌷 परमा (कामदा) एकादशी 🌷
🙏🏻 परमा (कामदा) एकादशी ( समस्त पाप, दुःख और दरिद्रता आदि को नष्ट करनेवाला व्रत | कीर्तन-भजन आदि सहित रात्रि-जागरण करना चाहिए | महादेवजी ने कुबेर को इसी व्रत के करने से धनाध्यक्ष बना दिया है |)
💎https:://www.bhragujyotishresearch.com
         ✳️~ हिन्दू पंचांग ~✳️


🌷 प्रदोष व्रत 🌷
🙏🏻 हिंदू पंचांग के अनुसार, प्रत्येक महिने की दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि पर प्रदोष व्रत किया जाता है। ये व्रत भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है। इस बार 14 अक्टूबर, बुधवार को प्रदोष व्रत है। इस दिन भगवान शिव की विशेष पूजा की जाती है। प्रदोष पर व्रत व पूजा कैसे करें और इस दिन क्या उपाय करने से आपका भाग्योदय हो सकता है, जानिए…
 👉🏻 ऐसे करें व्रत व पूजा
🙏🏻 - प्रदोष व्रत के दिन सुबह स्नान करने के बाद भगवान शंकर, पार्वती और नंदी को पंचामृत व गंगाजल से स्नान कराएं।
🙏🏻 - इसके बाद बेल पत्र, गंध, चावल, फूल, धूप, दीप, नैवेद्य (भोग), फल, पान, सुपारी, लौंग, इलायची भगवान को चढ़ाएं।
🙏🏻 - पूरे दिन निराहार (संभव न हो तो एक समय फलाहार) कर सकते हैं) रहें और शाम को दुबारा इसी तरह से शिव परिवार की पूजा करें।
🙏🏻 - भगवान शिवजी को घी और शक्कर मिले जौ के सत्तू का भोग लगाएं। आठ दीपक आठ दिशाओं में जलाएं।
🙏🏻 - भगवान शिवजी  की आरती करें। भगवान को प्रसाद चढ़ाएं और उसीसे अपना व्रत भी तोड़ें।उस दिन  ब्रह्मचर्य का पालन करें।
 👉🏻 ये उपाय करें
सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद तांबे के लोटे से सूर्यदेव को अर्ध्य देें। पानी में आकड़े के फूल जरूर मिलाएं। आंकड़े के फूल भगवान शिवजी  को विशेष प्रिय हैं । ये उपाय करने से सूर्यदेव सहित भगवान शिवजी  की कृपा भी बनी रहती है और भाग्योदय भी हो सकता है।
श्री भृगु ज्योतिष रिसर्च केन्द्र सूरजपुर


           ✳️~ हिन्दू पंचांग ~✳️
दैनिक पंचांग, राशि फल, पाने के लिए तथा जन्म कुण्डली में कुग्रह जनित दोषों के निराकरण एवं जी वन की कठिन समस्याओं के  समाधान हेतु केन्द्र से सम्पर्क करें ।
9350354162-8130308100


🙏🏻जय श्री राधे-जय श्री कृष्णा🙏🏻


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या