ऐतिहासिक कला एवं शिल्प महाविद्यालय का 109 वषँ पूरा


यूथ हॉस्टल एशोसिएशन आफ इंडिया,उत्तर प्रदेश राज्य शाखा की शान-ए-अवध इकाई द्वारा ऐतिहासिक कला एवं शिल्प महाविद्यालय के स्थापना दिवस पर पूवँ छात्र और वतँमान छात्रों के साथ कार्यक्रम का आयोजन लखनऊ विश्वविद्यालय परिसर में किया। जिसमें मास्क वितरण, पौधरोपण एवं कोरोना बीमारी से उभर कर आये, यूथ हास्टल के सदस्य राजीव रावत ने संबोधित किया और कोरोना बीमारी से सावधानियां एवं बचाव के उपाय बताये। साथ अपने अनुभव शेयर किये। महाविद्यालय के पूवँ छात्र एवं इकाई अध्यक्ष गोपेन्द्र कुमार वर्मा ने बताया कि कालेज 109 वषँ पूरा होने के दौरान हम सब का प्रयास है कि सभी पूवँ और वतँमान छात्रों की डिजिटल डायरी बनायी जाय। जिससे आपस में प्रेम और सदभाव का वातावरण तैयार हो सके। सचिव पंकज श्रीवास्तव ने बताया कि कार्यक्रम को  कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन करते हुए। कम से कम संख्या में सदस्यों को शामिल किया गया। सभी को इन क्षणों में सावधानी बरते हुए "दो गज की दूरी-मास्क है जरूरी का" का पालन करने के लिए पहले से निदेशित किया गया था। इस अवसर पर मुख्य अतिथि महाविद्यालय के प्रिंसिपल आलोक कुमार ने बताया की विश्व विद्यालय का शताब्दी व महाविद्यालय के 109 वर्ष हुए हैं। ऐसे में हम सुदूर देशों में स्थापित कलाकारों को एकजुट करने का प्रयास करेंगे,अन्य पूर्व  छात्रों को इस अभियान से जोड़ा जाएगा। इससे वर्ल्ड टूरिज्म के साथ सांस्कृतिक आदान- प्रदान को बढ़ावा मिलेगा। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में संयोजक शेफाली कपूर का विशेष सहयोग रहा। कार्यक्रम में चंद्र भूषण अग्रवाल, फैजान अहमद,विभावरी सिंह, गोपाल शर्मा सहित अन्य छात्र-छात्रा उपस्थित थे 


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या