गांधी प्रतिमा पर सपा जिलाध्यक्ष श्री आमिर हुसैन के नेतृत्व में 2 घंटे का मौन व्रत रख


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के निर्देश पर आज दिनांक 2 अक्टूबर 2020 को गांधी जयंती के अवसर पर जिला परिषद मार्केट महराजगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर सपा जिलाध्यक्ष श्री आमिर हुसैन के नेतृत्व में 2 घंटे का मौन व्रत रख किसान, नौजवान, आम इंसान, बहन-बेटियों के साथ दरिंदगी और विपक्ष का दमन कर सत्ता द्वारा की जा रही लोकतंत्र की हत्या के खिलाफ सत्याग्रह किया गया।
     जिला अध्यक्ष श्री आमिर हुसैन ने गांधी जयंती पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी ने जिस भारत का सपना देखा था उसमें ग्रामस्वराज की कल्पना थी, अंत्योदय पर बल था, सामाजिक सद्भाव था और श्रमशक्ति का सम्मान था।गांधी जी ने मानव कल्याण के लिए सत्य-अहिंसा का संदेश दिया था। उन्होंने सत्याग्रह का अनूठा अमोघ अस्त्र दिया था जिसने देश को अंग्रेजी साम्राज्य से मुक्ति दिलाई थी। उनका जीवन हमारे लिए प्रेरणादायक है।उनके रास्ते पर चलकर ही देश प्रगति कर सकता है।लेकिन आज देश और प्रदेश की निक्कमी भाजपा सरकार गांधी जी बताये रास्ते के विपरीत चल रही है                                                            हाथरस की गैंगरेप एवं दरिंदगी की शिकार एक बेबस दलित बेटी के दम तोड़ देने की घटना पर दुःख एवं शोक व्यक्त करता हू उसको नम आंखों से भावभीनी पुष्पांजलि अर्पित करता हू।                                                       श्री हुसैन ने कहा की आज की असंवेदनशील सत्ता से अब कोई उम्मीद नहीं बची है। बहन-बेटियों के परिवारों के लिए भाजपा का यह दुर्भाग्यपूर्ण शासनकाल है।
भाजपा के बेटी बचाओं, महिला सम्मान के नारे दिखावटी और जनता को बहकाने वाले हैं।मुख्यमंत्री जी दलित-पिछड़ों की बहन-बेटी की अस्मिता की कीमत रूपयों में तौलकर दरिंदगी का बचाव करने की भूल न करे।                                                                
 पूर्व जिलाध्यक्ष श्री राजेश यादव ने कहा की भाजपा सरकार की नीतियों के प्रति जनता में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। किसानों से खेत मालिक की जगह छीनकर खेत मजदूर बनाने की साजिश हो रही है। सरकार किसानों को धान, गेहूं की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी दिलाना नहीं चाहती है। खुले बाजार के नाम पर बड़े व्यापारियों को औन-पौने दाम पर फसल खरीदने की छूट दी जा रही है। मंडी व्यवस्था समाप्त की जा रही है। 
      लाॅकडाउन में श्रमिकों की नौकरियां छूटी है। प्रदेश में पूंजीनिवेश न होने और उद्योग न लगने से रोजगार का संकट है। इसके बावजूद भाजपा सरकार 100 की जगह अब 300 कर्मचारियों वाली फैक्ट्रियों में मालिक की जब मर्जी हो छंटनी करने का प्राविधान ले आई है। युवाओं द्वारा अपनी मांगे रखने पर उन पर लाठियां चल रही है। भाजपा सरकार सिर्फ दमन और शोषण के रास्ते पर चलती है। इसके विरोध मे समाजवादी पार्टी जनपद महराजगंज के सैकड़ों नेता,कार्यक्रता शांतिपूर्ण ढंग से गांधी प्रतिमा पर मौन सत्याग्रह किये।
 इस दौरान पूर्व विधायक श्रीपति आजाद,सुदाम प्रसाद,पूर्व विधायक कौशल किशोर मुन्ना सिंह,पूर्व विधायक विनोद तिवारी,कृष्णभान सिंह सैथवार,विजय बहादुर चौधरी,ध्यानेश्वरमणि त्रिपाठी,सुमन ओझा, सुशील टिबड़ेवाल,पूर्व उपाध्यक्ष छात्र संघ सूरज यादव,अमीर खान, परशुराम निषाद, अमित चौबे, हरेंद्र कृष्ण त्रिपाठी,अशोक यादव,राहुल मिश्रा, अमरजीत यादव,अतुल पटेल, बिन्द्रेश कन्नौजिया,मिस्टर खान,राजू दुबे, राममिलन गौड़, राजेश निषाद,अम्बरीष यादव,लीलावती पासवान,अजय गुप्ता, लौलुतींन निशा,पिंटू दुबे, पंकज पांडेय, नदीम खान, रामप्रकाश पासवान,एजाज खान,विद्यासागर यादव,सुरेश पटेल,राजेश निषाद, दीपू यादव,सुदामा पासवान, सरजू यादव,शमीम खान, उमेश यादव,शमशाद खान,रामकृपाल वर्मा,सुरेंद्र यादव,शमशुदीन,अमरजीत सहानी,चिराग खान,विशाल ओझा,रामसुधार यादव,सुनील मद्धेशिया,सत्यपाल यादव,बबलू  भारती,शैलेश श्रीवास्तव,नेमतुल्लाह,अमरनाथ यादव,आशुतोष शुक्ला,सोनू जयसवाल,अशोक यादव,केशव जयसवाल,आलोक यादव,धर्मप्रकाश पासवान,फूलचंद्र यादव,सुल्तान,गुड्डू यादव,सुनील त्रिपाठी,मालवीय जी,रमेश सैनी,राकेश यादव,गोलू पासवान,अमरनाथ सहानी,कैलास मौर्य,सतीश यादव,मैनुद्दीन खान,शेषमणि, हीरालाल जख्मी सहित सैकड़ो लोग उपस्थित रहे।समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के निर्देश पर आज दिनांक 2 अक्टूबर 2020 को गांधी जयंती के अवसर पर जिला परिषद मार्केट महराजगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर सपा जिलाध्यक्ष श्री आमिर हुसैन के नेतृत्व में 2 घंटे का मौन व्रत रख किसान, नौजवान, आम इंसान, बहन-बेटियों के साथ दरिंदगी और विपक्ष का दमन कर सत्ता द्वारा की जा रही लोकतंत्र की हत्या के खिलाफ सत्याग्रह किया गया।
     जिला अध्यक्ष श्री आमिर हुसैन ने गांधी जयंती पर सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी ने जिस भारत का सपना देखा था उसमें ग्रामस्वराज की कल्पना थी, अंत्योदय पर बल था, सामाजिक सद्भाव था और श्रमशक्ति का सम्मान था।गांधी जी ने मानव कल्याण के लिए सत्य-अहिंसा का संदेश दिया था। उन्होंने सत्याग्रह का अनूठा अमोघ अस्त्र दिया था जिसने देश को अंग्रेजी साम्राज्य से मुक्ति दिलाई थी। उनका जीवन हमारे लिए प्रेरणादायक है।उनके रास्ते पर चलकर ही देश प्रगति कर सकता है।लेकिन आज देश और प्रदेश की निक्कमी भाजपा सरकार गांधी जी बताये रास्ते के विपरीत चल रही है                                                            हाथरस की गैंगरेप एवं दरिंदगी की शिकार एक बेबस दलित बेटी के दम तोड़ देने की घटना पर दुःख एवं शोक व्यक्त करता हू उसको नम आंखों से भावभीनी पुष्पांजलि अर्पित करता हू।                                                       श्री हुसैन ने कहा की आज की असंवेदनशील सत्ता से अब कोई उम्मीद नहीं बची है। बहन-बेटियों के परिवारों के लिए भाजपा का यह दुर्भाग्यपूर्ण शासनकाल है।
भाजपा के बेटी बचाओं, महिला सम्मान के नारे दिखावटी और जनता को बहकाने वाले हैं।मुख्यमंत्री जी दलित-पिछड़ों की बहन-बेटी की अस्मिता की कीमत रूपयों में तौलकर दरिंदगी का बचाव करने की भूल न करे।                                                                
 पूर्व जिलाध्यक्ष श्री राजेश यादव ने कहा की भाजपा सरकार की नीतियों के प्रति जनता में आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है। किसानों से खेत मालिक की जगह छीनकर खेत मजदूर बनाने की साजिश हो रही है। सरकार किसानों को धान, गेहूं की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी दिलाना नहीं चाहती है। खुले बाजार के नाम पर बड़े व्यापारियों को औन-पौने दाम पर फसल खरीदने की छूट दी जा रही है। मंडी व्यवस्था समाप्त की जा रही है। 
      लाॅकडाउन में श्रमिकों की नौकरियां छूटी है। प्रदेश में पूंजीनिवेश न होने और उद्योग न लगने से रोजगार का संकट है। इसके बावजूद भाजपा सरकार 100 की जगह अब 300 कर्मचारियों वाली फैक्ट्रियों में मालिक की जब मर्जी हो छंटनी करने का प्राविधान ले आई है। युवाओं द्वारा अपनी मांगे रखने पर उन पर लाठियां चल रही है। भाजपा सरकार सिर्फ दमन और शोषण के रास्ते पर चलती है। इसके विरोध मे समाजवादी पार्टी जनपद महराजगंज के सैकड़ों नेता,कार्यक्रता शांतिपूर्ण ढंग से गांधी प्रतिमा पर मौन सत्याग्रह किये।
 इस दौरान पूर्व विधायक श्रीपति आजाद,सुदाम प्रसाद,पूर्व विधायक कौशल किशोर मुन्ना सिंह,पूर्व विधायक विनोद तिवारी,कृष्णभान सिंह सैथवार,विजय बहादुर चौधरी,ध्यानेश्वरमणि त्रिपाठी,सुमन ओझा, सुशील टिबड़ेवाल,पूर्व उपाध्यक्ष छात्र संघ सूरज यादव,अमीर खान, परशुराम निषाद, अमित चौबे, हरेंद्र कृष्ण त्रिपाठी,अशोक यादव,राहुल मिश्रा, अमरजीत यादव,अतुल पटेल, बिन्द्रेश कन्नौजिया,मिस्टर खान,राजू दुबे, राममिलन गौड़, राजेश निषाद,अम्बरीष यादव,लीलावती पासवान,अजय गुप्ता, लौलुतींन निशा,पिंटू दुबे, पंकज पांडेय, नदीम खान, रामप्रकाश पासवान,एजाज खान,विद्यासागर यादव,सुरेश पटेल,राजेश निषाद, दीपू यादव,सुदामा पासवान, सरजू यादव,शमीम खान, उमेश यादव,शमशाद खान,रामकृपाल वर्मा,सुरेंद्र यादव,शमशुदीन,अमरजीत सहानी,चिराग खान,विशाल ओझा,रामसुधार यादव,सुनील मद्धेशिया,सत्यपाल यादव,बबलू  भारती,शैलेश श्रीवास्तव,नेमतुल्लाह,अमरनाथ यादव,आशुतोष शुक्ला,सोनू जयसवाल,अशोक यादव,केशव जयसवाल,आलोक यादव,धर्मप्रकाश पासवान,फूलचंद्र यादव,सुल्तान,गुड्डू यादव,सुनील त्रिपाठी,मालवीय जी,रमेश सैनी,राकेश यादव,गोलू पासवान,अमरनाथ सहानी,कैलास मौर्य,सतीश यादव,मैनुद्दीन खान,शेषमणि, हीरालाल जख्मी सहित सैकड़ो लोग उपस्थित रहे।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या