जन-प्रतिनिधियों से समन्वय स्थापित कर प्रभावित किसानों को कृषि निवेश अनुदान हेतु धनराशि वितरित की जाय - नवनीत सहगल


प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,29,513 क्षेत्रों में 3,98,444 सर्विलांस टीमों के माध्यम से 2,59,54,716 घरों के 12,85,86,357 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया- अमित मोहन प्रसाद
लखनऊ: 03 अक्टूबर, 2020

       उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना श्री नवनीत सहगल ने आज यहां लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में अनलाॅक-5 की नई गाइडलाइन जारी कर दी गयी है। उन्होंने कहा कि सभी लोगों से इसका पालन सुनिश्चित कराया जा रहा है। कन्टेन्मेंट जोन में लगातार गिरावट आ रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में आर्थिक/औद्योगिक गतिविधियों को लगातार बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि लघु, सूक्ष्म, मध्यम एवं वृहद श्रेणी की 8.18 लाख इकाईयां क्रियाशील हैं जिसमें 51.78 लाख श्रमिक कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि आत्मनिर्भर उ0प्र0 रोजगार/स्वरोजगार सृजन अभियान में 14 मई से अब तक 4.18 लाख नई एमएसएमई इकाईयों को रूपये 14.59 करोड़़ का ऋण वितरण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 4.33 लाख इकाईयों को आत्मनिर्भर पैकेज के अन्तर्गत रूपये 10.536 करोड़ के ऋण स्वीकृत कर वितरित किये गये हैं।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश में वित्तीय वर्ष 2020-21 में आयी बाढ़ से लगभग 8.84 लाख आबादी प्रभावित हुयी है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर कृषि क्षति का आंकलन जनपदों द्वारा युद्धस्तर पर किया जा रहा हैं जनपदों से प्राप्त प्राथमिक आंकलन के अनुसार लगभग 92,000 हेक्टेयर कृषि क्षेत्रफल प्रभावित हुआ है। उन्होंने बताया कि इसी क्रम में जनपद बहराइच, अयोध्या, आजमगढ़, देवरिया, संतकबीरनगर, सिद्धार्थनगर, फर्रूखाबाद, गोरखपुर, मऊ, गोण्डा तथा बलरामपुर के प्रभावित कृषकों को कृषि निवेश अनुदान वितरित किये जाने हेतु 104.32 करोड़ रूपये की धनराशि अग्रिम के रूप में आवंटित की गयी है तथा जिलाधिकारी को निर्देश दिये है कि प्रत्येक अवस्था में दिनांक 15 अक्टूबर, 2020 तक प्रभावित किसानों को गाटावर सर्वे कराकर धनराशि वितरित किया जाए।
श्री सहगल ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर गाटावार सर्वे के अनुसार यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी प्रभावी किसान छूटने न पाये तथा जिला स्तर पर जन प्रतिनिधियों से समन्वय स्थापित कर प्रभावित किसानों को कृषि निवेश अनुदान हेतु धनराशि वितरित की जाए। उन्होंने बताया कि वर्ष 2020-21 में माह जुलाई, अगस्त एवं सितम्बर में आयी बाढ़ से निपटने हेतु जनपदों को राहत कार्य हेतु 40.13 करोड़ रूपये की धनराशि पूर्व में ही आवंटित की जा चुकी है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में अब तक का सर्वाधिक कुल 1,53,533 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 1,05,79,701 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटंे में कोरोना के संक्रमित 3,665 नये मामले आये है। प्रदेश में 24 घंटे में उपचारित 4,860 हुए। अब तक कुल 3,56,826 लोग पूर्णतया उपचारित होकर डिस्चार्ज किये गये। प्रदेश में रिकवरी का प्रतिशत अब बढ़कर 86.89 है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 47,823 कोरोना के एक्टिव मामले है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में 22,329 लोग हैं। प्रदेश में अब तक 2,22,297 लोग होम आइसोलेशन का विकल्प ले चुके हैं जिसमें से 1,99,968 लोग होम आइसोलेशन की अवधि पूर्ण कर डिस्चार्ज हो गये हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 3,604 लोग ईलाज करा रहे है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,29,513 क्षेत्रों में 3,98,444 सर्विलांस टीमों के माध्यम से 2,59,54,716 घरों के 12,85,86,357 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रदेश में पूल टेस्ट के अन्तर्गत कल 3398 पूल की जांच की गयी, जिसमें 2946 पूल 5-5 सैम्पल के तथा 452 पूल 10-10 सैम्पल की जांच की गयी। उन्होंने बताया कि सरकारी संस्थान, प्रमुख कार्यालय, प्रतिष्ठान, औद्योगिक इकाईयों में 64,657 कोविड हेल्प डेस्क स्थापित किये गये। इसके माध्यम से 8,17,765 व्यक्तियों में लक्षणात्मक चिन्हांकन किया गया।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या