मादक पदार्थों के सेवन से होने वाले दुष्परिणामों के प्रति जनजागरूकता हेतु अभियान चलाया गया

लखनऊ 04 अक्टूबर 2020

क्षेत्रीय मद्यनिषेध एवं समाजोत्थान अधिकारी ने बताया कि गांधी जयंती के अवसर पर मद्यनिषेध विभाग उ0प्र0 द्वारा मादक पदार्थों के सेवन से होने वाले दुष्परिणामों के प्रति जनजागरूकता हेतु विभिन्न प्रकार के शिक्षात्मक कार्य किये गये। उन्होंने बताया कि तम्बाकू नियंत्रण येलो लाइन के तहत कार्यालय परिसर में समस्त कर्मियों को तम्बाकू सेवन न करने व दूसरों को भी इसके लिये प्रेरित करने की शपथ दिलाई गयी। कार्यालय परिसर को तम्बाकू मुक्त परिसर घोषित किया गया।उन्होंने बताया किसामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार के नशामुक्त भारत अभियान के तहत जिलाधिकारी महोदय की अध्यक्षता/निर्देशन में समाज कल्याण विभाग द्वारा विभिन्न विभागों के सहयोग से जनपद में नशामुक्त अभियान का संचालन किया जा रहा है। जिसमें नगर निगम के समस्त जोनों व समस्त विकास खंडों पर विभिन्न प्रकार के नशा विरोधी जनजागरूकता के कार्य कराये जा रहे हैं।
क्षेत्रीय मद्यनिषेध एवं समाजोत्थान अधिकारी ने बताया कि गांधी जयंती के अवसर पर मद्यनिषेध विभाग द्वारा विभिन्न सार्वजनिक स्थानों यथा चारबाग रेलवे-स्टेशन, चारबाग बस-स्टेशन, कैसरबाग बस-स्टेशन व नगर निगम जोन- में मादक पदार्थों के सेवन से होने वाले दुष्परिणामों के प्रति जनजागरूकता हेतु सचित्र संदेशयुक्त पोस्टर प्रदर्शनी के माध्यम से शिक्षात्मक कार्य किये गये। या़ित्रयों व जनसामान्य को मद्यपान व अन्य नशीली दवाओं के सेवन से होने वाले दुष्परिणामों व बचाव के संबंध में अवगत कराया गया। साथ ही मद्यपान एवं नशीले पदार्थों के सेवन को समाज के लिए अत्यन्त घातक बताते हुए जनसामान्य को इनसे दूर रहने की अपील की गयी।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या