मौदहा सीएचसी ने किया कमाल, मिला कायाकल्प अवार्ड

0 84.3 प्रतिशत अंक अर्जित कर प्रदेश के टॉपटेन की सूची में मिला छठा स्थान


0 कायाकल्प अवार्ड योजना के तहत मिलेगी दो लाख रुपए की धनराशि 


0 एनक्वास की टीम भी जल्द करेगी मौदहा सीएचसी का असेस्मेंट 



हमीरपुर, 22 अक्टूबर 2020


वित्तीय वर्ष 2019-20 के कायाकल्प अवार्ड योजना में जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मौदहा ने प्रदेश की टॉपटेन सूची में छठवां स्थान प्राप्त किया है। योजना के तहत सात बिंदुओं पर टीमें अस्पतालों को परखती हैं, जिसमें मौदहा सीएचसी ने 84.3 प्रतिशत अंक अर्जित कर यह उपलब्धि हासिल की है। इसके तहत शासन स्तर से पुरस्कार स्वरूप दो लाख रुपए की धनराशि मिलेगी। इस राशि का 25 प्रतिशत हिस्सा स्टाफ को इंसेंटिव के रूप में मिलेगा और शेष मरीजों की सुविधाओं पर खर्च होगा। जल्द ही एनक्वास (नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस स्टैंडर्स) की टीम भी सीएचसी का असेस्मेंट करेगी। इस उपलब्धि पर स्वास्थ्य विभाग में हर्ष की लहर है। 


वर्ष 2015 से शुरू कायाकल्प अवार्ड योजना के तहत स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर तरीके से मरीजों तक पहुंचाने को लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीमें कई चरणों में निरीक्षण करती हैं और अंकों के आधार पर प्रदेश स्तर में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने वाले अस्पतालों की सूची जारी करती हैं। इसमें स्थान प्राप्त करने वाले अस्पतालों को अवार्ड और नकद धनराशि पुरस्कार के रूप में दी जाती है। वर्ष 2019-20 में जनपद के समस्त प्राथमिक, सामुदायिक और जिला अस्पतालों का कायाकल्प अवार्ड योजना की टीम ने निरीक्षण कर सात मानकों की जांच-पड़ताल की थी। इसमें इस साल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मौदहा की टीम को प्रदेश के टॉपटेन सूची में छठवां स्थान मिला है।


कायाकल्प योजना के क्वालिटी कंसल्टेंट डॉ.योगेश लहरी ने बताया कि योजना के तहत अस्पताल का रखरखाव, साफ-सफाई, बायो मेडिकल वेस्ट निस्तारण, इन्फेक्शन कंट्रोल, सहयोगी सेवाएं, स्वच्छता को बढ़ावा देने के कार्यों के साथ अस्पताल की चहारदीवार के बाहर की व्यवस्थाओं को देखा जाता है। प्रत्येक की अलग-अलग मार्किंग की जाती है। इसमें सीएचसी मौदहा को प्रदेश में छठवां और चित्रकूट धाम मण्डल में पहला स्थान मिला है। 


सीएचसी अधीक्षक डॉ.एके सचान ने इस उपलब्धि को टीम वर्क की देन बताया। उन्होंने कहा कि इसमें और भी सुधार किया जाएगा ताकि प्रदेश की टॉपटेन सूची में मौदहा सीएचसी का स्थान बरकरार रहे। सीएमओ डॉ.आरके सचान ने भी इस उपलब्धि पर हर्ष जताते हुए कहा कि भविष्य में जनपद के अन्य सीएचसी-पीएचसी भी इस योजना में चयनित हो, इस  दिशा में काम किया जाएगा। एसीएमओ/क्वालिटी व नोडल अधिकारी डॉ.रामअवतार, डिवीजनल क्वालिटी कंसल्टेंट डॉ.तरन्नुम, जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी अनिल यादव ने भी इस उपलब्धि के लिए पूरी टीम को बधाई दी। 




इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या