मुख्य सचिव द्वारा किसानो द्वारा पराली न जलाने की वीडियों कांफ्रेसिंग कर दिये गये निर्देश


महराजगंज, मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन ने किसानो के द्वारा धान की पराली न जलाने तथा महिला सशक्तिकरण की वीडियो कांफ्रेसिंग कर दिशा निर्देश दिये गये ।
महिला सशक्तिकरण में मनचलो या महिला उत्पीड़न में किये जा रहे अनिष्ठ या दुर्ब्यवहार के मामले में  कठोर कार्यवाही की जाय तथा उच्चाधिकारी दौरे कर स्वंय भी चाज  कर लिया जाय ।
उन्होने कहा कि किसान द्वारा पराली  न जलाई जाय । पराली जलाने से पर्यावरण व मानव जीवन पर प्रतिकूल असर हो रहा है । पर्यावरण को संरक्षित रखना तथा मानव जीवन में जीने हेतु शुद्ध हवा को बनाये रखने हेतु  सुप्रीम कोर्ट भी सख्त आदेश जारी दे रखा है । जिसके परिप्रेक्ष्य में शासन द्वारा पराली जलाने पर सख्त कार्यवाही हेतु निर्देश दिये गये है । उन्होने कहा कि पुआल किसान न जलाये कि निगरानी हेतु राजस्व कर्मी व कृषि विभाग के कर्मचारियों को पार्टवाइज ड्यूटी लगायी जाय,जिससे पराली जलाने वाले किसान को चिन्हित कर प्राथमिकी दर्ज कराते हुए जुर्माने भी लगाई जाय । पुलिस विभाग क्षेत्रो में गस्त बढा़ये जाये । पुआल/पराली को गो सदनो में भेजी जाय जिससे गौ चारा की पूर्ति भी हो सके ।
उक्त अवसर पर जिलाधिकारी डा0 उज्ज्वल कुमार,अपर जिलाधिकारी कुन्जबिहारी अग्रवाल, तहसीलदार मो0जसीम, उप कृषि प्रसार निदेशक विनोद कुमार सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे ।


इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरकारी पद पर कोई भर्ती नहीं होगी केंद्र सरकार ने नोटिस जारी कर दिया

बिहार में स्वतंत्रता आंदोलन : विहंगम दृष्टि

शौंच को गई शिक्षिका की दुष्कर्म के बाद हत्या